January 27, 2023
DM सत्येंद्र कुमार पहुँचे हरखपुरा व हरपुरपकड़ी, विकास कार्यों का किया स्थलीय निरिक्षण, सेकेट्री को निलंबित करने का दिया निर्देश

महराजगंज| जिलाधिकारी सत्येन्द्र कुमार द्वारा सिसवा विकास खण्ड में परफॉर्मेंस ग्रांट योजना के ग्राम पंचायत हरखपुरा और हरपुर पकड़ी का आज वृहद स्थलीय निरीक्षण किया और निर्माणकार्यों की समीक्षा कर कार्य मे लापरवाही हेतु एडीपीआरओ नित्यानंद व लेखपाल हरखपुरा को विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि और सेक्रेटरी आर. बी. नायक को निलबिंत करने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने सबसे पहले हरखपुरा में नवनिर्मित पंचायत भवन में परफॉर्मेंस ग्रांट योजना के तहत स्वीकृत और संचालित कार्यों की समीक्षा की। सेक्रेटरी द्वारा बताया गया कि 73 कार्य स्वीकृत थे, जिनमें 12 कार्यों में टेंडर नहीं हुआ है जबकि 02 कार्य अलग-अलग कारणों से निरस्त कर दिए गए हैं। जिलाधिकारी द्वारा निरस्त कार्यों के स्थान पर वैकल्पिक प्रस्ताव के संबंध में पूछे जाने पर सेक्रेटरी द्वारा संतोषजनक उत्तर नहीं दिया गया। जिलाधिकारी ने सभी कार्यों के अबतक टेंडर न होने पर नाराजगी व्यक्त की और तत्काल सभी कार्यों के टेंडर कराने का निर्देश दिया।

इसके उपरांत उन्होंने गांव में परफॉर्मेंस ग्रांट के तहत निर्मित रोड व नाली का निरीक्षण किया। कार्यदायी संस्था सत्यनारायण कंस्ट्रक्शन द्वारा टेंडर के उपरांत भी अमृत सरोवर के सुंदरीकरण का कार्य न शुरू करने व सीसी सड़क की गुणवत्ता मानक के अनुसार न होने पर जिलाधिकारी द्वारा उक्त संस्था को ब्लैकलिस्ट करने का निर्देश दिया।

उन्होंने डीपीआरओ को निर्देशित करते हुए कहा कि जनपद में जिन संस्थाओं द्वारा भी टेंडर के उपरांत कार्य नहीं किया जा रहे, उन्हें ब्लैकलिस्ट करने की कार्यवाही शुरू करें। उन्होंने गाँव से जल निकासी हेतु निर्मित नाले के औचित्य की जांच हेतु एक्सईएन जल निगम व एई पीडब्ल्यूडी को निर्देशित किया। उन्होंने डीपीआरओ को निर्देश दिया कि नाले का औचित्य नहीं होने पर रिकवरी की कार्यवाही सुनिश्चित करें।

इसके बाद जिलाधिकारी ने हरपुर पकड़ी का निरीक्षण किया। उन्होंने सबसे पहले खेल स्टेडियम और प्राथमिक विद्यालय को देखा। विद्यालय में ही उन्होंने परफॉर्मेंस ग्रांट योजना के तहत कार्यों की समीक्षा की। सेक्रेटरी द्वारा बताया गया कि योजना के तहत कुल 89 कार्य स्वीकृत हैं, जिनमे 38 का टेंडर किया जा चुका है, जबकि 41 टेंडर अभिलेख पूर्ण न होने के कारण जिलास्तरीय टेंडर अनुमोदन समिति द्वारा निरस्त कर दिया गया। इसपर जिलाधिकारी ने एक्सईएन जल निगम को निर्देश दिया कि टेंडर निरस्त करने से पूर्व सम्बंधित संस्था को नोटिस जारी कर अभिलेख प्रस्तुत करने का अवसर दें।

जिलाधिकारी द्वारा हरपुर पकड़ी में मनरेगा के तहत निर्मित नाले का निरीक्षण किया और नाले के गहराई की जाँच करायी। नाले की गहराई कार्ययोजना में उल्लिखित गहराई से कम पायी गयी। उन्होंने एक्सईएन जल निगम व एई पीडब्ल्यूडी को कार्य की जांच करने का निर्देश दिया और पीओ मनरेगा को निर्देशित किया कि अगर जाँच में अनियमितता पायी जाती है तो सेक्रेटरी समेत जिम्मेदार लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करायें।
जिलाधिकारी ने दोनों ग्राम पंचायतों में परफॉर्मेंस ग्रांट के तहत निर्मित सड़क व नाली की गुणवत्ता की जांच एक्सईएन जल निगम व एई पीडब्ल्यूडी को करने का निर्देश दिया।

सिसवा ब्लॉक पर परफॉर्मेंस ग्रांट व अन्य विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि डीपीआरओ परफॉर्मेंस ग्रांट के तहत हो रहे कार्यों का गहन निरीक्षण करें और अनियमितता मिलने पर कठोर कार्यवाही करें। मनरेगा कार्यों के संबंध में उन्होंने सभी बीडीओ को निर्देशित किया कि कार्यों का औचक सत्यापन करने के उपरांत ही भुगतान करें और सुनिश्चित करें कि कार्यों की गुणवत्ता उत्तम हो।
जिलाधिकारी ने परफॉर्मेंस ग्रांट ग्राम पंचायतों के नोडल अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपने-अपने ग्राम पंचायतों में हो रहे कार्यों की बिंदुवार नियमित समीक्षा करें ताकि योजना की सफलता को सुनिश्चित किया जा सके।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने स्थानीय ग्रामीणों की समस्याओं को भी सुना और जरूरी निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया।
निरीक्षण के दौरान डीपीआरओ यावर अब्बास, एक्सईएन जल निगम आसिफ हुसैन, बीडीओ निचलौल चंद्रशेखर कुशवाहा, जिला कृषि अधिकारी वीरेंद्र कुमार, डीएसटीओ श्री अजय श्रीवास्तव सहित सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News

error: Content is protected !!