May 25, 2022
लुटेरी दुल्हन: शादी के तीसरे ही दिन 50 हजार और जेवर लेकर हुई फरार

शादी में लड़की के परिवार से छह-सात लोग शरीक होने पहुंचे थे

उज्जैन। उज्जैन के कार्तिक चौक में रहने वाले तिवारी परिवार के घर आई दुल्हन शादी के तीन दिन बाद ही घर से लाखों रुपए के जेवरात लेकर भाग गई। सुबह परिवार वालों को जब दुल्हन और जेवरात घर से गोय दिखे तो महाकाल थानेे में रिपोर्ट लिखवाई।

बताया जा रहा है कि लुटेरी दुल्हन महाराष्ट्र से गैंग संचालित कर लोगों की शादी के नाम पर चूना लगोन का काम करती है। लुटेरी दुल्हन फिलहाल फरार है, जबकि उसके तीन साथियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उज्जैन कार्तिक चौक में रहने वाले सचिन तिवारी (40) की शादी 19 मार्च को शहर के चिंतामन मंदिर में महाराष्ट्र की रहने वाली निकिता से हुई थी। सामान्य तरह से हुई शादी में लड़की के परिवार से छह-सात लोग शरीक होने पहुंचे थे।

शादी के तीसरे दिन 23 मार्च की देर रात पति, सास, ससुर और देवर को घर में सोता हुआ छोड़कर लुटेरी दुल्हन घर में रखे 50 हजार रुपये के जेवर सहित चार सोने की चूड़ी, मंगल सूत्र, बिछुड़ी लूट कर भाग गई। परिवार वालों को सुबह उठने पर लूट का पता चला जिसके बाद जिन लोगों ने लड़की दिखाने से लेकर शादी कराने तक का काम कराया था, उन सभी को फोन लगाने की कोशिश की लेकिन सभी का फोन बंद आया जिसके बाद महकाल थाने में शिकायत दर्ज कराई गई।
महाकाल थाना टीआई बृजेंद्र गौतम ने बताया क तनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। सभी पर फर्जी शादी और जेवरात लूटने का आरोप है। दुल्हन जिस दिन से घर में आई थी उसी दिन से परिवार में सभी को रोजाना रात को दूध पीने और उसके गुण समणने लगी थी, दो दिन से लगातार वो परिवार े सभी सदस्य को सोते समय दूध पीने के लिए दूध दे रही थी। 27 मार्च की रात को भी सोने से पहले सभी को दूध दिया जिसके कुछ देर बाद सभी बेहोशी की हालत में सो गए और सुबह जब उठे तो घर से बहु सहित सारा सामान गायब मिला।

सचिन ने बताया कि घर से सामान गायब होने के बाद फोन लगाए गए, जो बंद मिले। इसके बाद जिस गाड़ी से वो आए थे उस गाड़ी का नंबर ट्रेस कर उसके ड्रायवर का नंबर निकाला। ड्रायवर लगातार कहता रहा कि मैं सिर्फ ड्राइवर हूं मेरा उन लोगों से कोई लेना-देना नहीं है। इसके बाद सचिन ने अपने दोस्त से ड्राइवर को फोन लगवाया और कहा कि आप किसी लड़की से शादी करवा सकते हो क्या। जिसके बाद ड्राइवर झांसे में आ गया और उसने ओंकारेश्वर में मिलने की बात कही। जिसके बाद तीन लोग पकड़ दिए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!