August 18, 2022
सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, महिला दरोगा करती थी वसूली, जाने कैसे खुला राज

Sex racket busted, female inspector used to extort, know how the secret was revealed

कानपुर। शहर में हनीट्रैप रैकेट की संचालिका से मिलकर वसूली करने वाली महिला दारोगा भुवनेश्वरी देवी बॉक्सिंग की चौंपियन भी रही है। काफी समय तक जेल चौकी की इंचार्ज रही है। चौकी इंचार्ज रहने के दौरान एसटीएफ को कई शातिर मुजरिमों से मिलने वालों की पूरी जानकारी भी सौंपती थी। इसके जरिए कई बड़े अपराधी अलग अलग एसटीएफ के हत्थे चढ़े हैं। पुलिस अब उसका कच्चा चिटठा खोलने में जुटी है। दरोगा और उसके पांच अन्य साथियों को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

बताया जाता है कि गुरुवार रात जालौन निवासी दो मौसेरे भाई उपेन्द्र सिंह और अमित सिंह उर्फ भीम किसी काम से शहर आए हुए थे। पनकी स्टेशन के पास उनसे एक ब्रोकर टकराया। उसने उन्हें लड़कियां उपलब्ध कराने की पेशकश की। रजामंदी पर ब्रोकर ने पनकी की एक सेक्स रैकेट संचालिका के जरिए रात करीब पौने नौ बजे सचेंडी की दो लड़कियां पनकी स्टेशन बुलवाईं।

संचालिका ने पनकी गंगागंज में एक फ्लैट की व्यवस्था कराई जहां चारों को भेज दिया। कुछ देर में ही महिला दरोगा ने होमगार्ड संजीव कुमार विश्वकर्मा के साथ गंगागंज स्थित फ्लैट में छापेमारी की। लड़कियों के साथ दोनों भाइयों को उठा लिया। दोनों भाइयों से महिला दारोगा ने 15 लाख की डिमांड की। इस पर दोनों ने साफ कह दिया कि इतना पैसा नहीं है। 50 हजार लेने हो तो बोलो वरना जो कार्रवाई करनी है कर दो। पैसे न देने पर दोनों भाइयों को उन्हीं की गाड़ी से रात तीन बजे घुमाया। फिर चेन,अंगूठी,नकदी और जरूरी कागजात छीन लिये और कहा, पैसे देकर सामान ले जाना।

पीड़ित भाई शुक्रवार सुबह कानपुर में मौजूद अपने साथी धर्मेन्द्र सिंह के साथ ज्वाइंट सीपी के पास पहुंचे। युवकों ने पूरी कहानी बताई। कहा, एक महिला दरोगा थीं। नेम प्लेट नहीं थी। बावर्दी एक होमगार्ड भी था। इस पर ज्वाइंट सीपी ने एसीपी कोतवाली अशोक कुमार सिंह को धरपकड़ में लगाया
एसीपी ने पीड़ितों से दरोगा के मुखबिर राहुल शुक्ला को कोतवाली स्थित एक रेस्टोरेंट के पास पैसे लेने के लिए बुलवाया। रात नौ बजे पुलिस ने रेस्टोरेंट में छापा मारा तो महिला दरोगा वसूली की रकम लेने पहुंची थी। उसके साथ होमगार्ड व एक ठेला लगाने वाला माताप्रसाद गुप्ता भी था। दरोगा भुवनेश्वरी देवी और उसके पांच अन्य साथियों को शुक्रवार रात कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पता चला कि माताप्रसाद के जरिए भी भुवनेश्वरी कई बार अलग-अलग मामलों में वसूली करा चुकी है।

ज्वाइंट सीपी ने बताया कि दो एफआईआर दर्ज कराने के बाद पुलिस दरोगा की सीडीआर निकलवाएगी। इससे हनीट्रैप का रैकेट पता चलेगा। इस खेल में मुखबिर,सेक्स रैकेट संचालिका और दरोगा के बीच कब-कब बात हुई यह भी पता चलेगी। इसे लिखा पढ़ी में शामिल किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!