August 12, 2022
आखिर टीआई की कितनी पत्नियां हैं, रोज हो रहे नए-नए खुलासे, अब पुलिस भी हैरान

After all, how many wives does TI have, new revelations are happening every day, now the police are also surprised

इंदौर। भोपाल में पदस्थ टीआई की आत्महत्या के मामले में रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। अब तक तीन पत्नियों की जानकारी मिली थी तगर अब यह बात सामने आई है कि टीआई की पाँच पत्नियां हैं। हालांकि पुलिस कमीश्नर हरिनारायणचारी मिश्र ने इस बात को नकार दिया। पुलिस ने टीआई के सीडीआर ले लिया और जाँच कर रही है। अब पुलिस भी हैरान है कि आखिर टीआई की कितनी पत्नियां हैं। इधर इस मामले में पुलिस ने मृतक टीआई के खिलाफ प्राणघातक हमले का केस दर्ज किया है।

जानकारी के मुताबिक टीआई हाकम सिंह की मौत के बाद भोपाल में पदस्थ एक महिला आरक्षक माया ने अधिकारियों से मिलकर बताया कि हाम सिंह उनके पति हैं। महिला का दावा है कि इन दोनों ने कुछ समय पहले ही शादी की थी, लेकिन हाकम सिंह की सर्विस बुक में लता पंवार का नाम लिखा है। इधर हाकम सिंह की मौत के बाद मर्चुरी पहुंची रेशमा ने दावा किया था कि वह उनकी तीसरी पत्नी है। उज्जैन के तराना की लीलावती और सीहोर की सरस्वती उनकी पहली और दूसरी पत्नियां हैं। अब कहा जा रहा है थ्क पुलिस इस मामले में उन सभी महिलाओं के बयान ले सकती है जो खुद को टीआई की पत्नी बता रही हैं। पुलिस को यह भी शक है कि टीआई ने आत्महत्या तत्कालिक विवाद के कारण की थी या कोई और वजह थी। परिजनों के बयान भी लिए जाएंगे।

इस मामले में घटना के पहले महिला एएसआई रंजना का भाई व हाकम सिंह और महिला एएसआई के कंट्रोल रूम परिसर, कॉफी हाउस में बातचीत करते हुए वीडियो बना रहा था। यह खुलासा सीसीटीवी फुटेज से हुआ हे। यह मोबाइल पुलिस ने जब्त नहीं किया है। एएसआई रंजना का मोबाइल भी पुलिस को नहीं मिला है। पुलिस को शक है कि कमलेश जिस मोबाइल से वीडियो बना रहा है वह एएसआई रंजना का तो नहीं है। संयोगितागंज पुलिस ने घटना के बाद बयान के लिए रंजना के भाई कमलेश को बुलाया था। कमलेश ने पुलिस को वीडियो बनाने के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है।

इस पूरे मामले में पुलिस को अब तक कोई प्रत्यक्षदर्शी नहीं मिला है जो यह बता सके कि टीआई के गोली मारने के पहले क्या घटनाक्रम हुआ था। जिस क्रेटा गाड़ी को लेकर विवाद की बात सामने आ रही है, उसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। साथ ही पुलिस ने तीन मोबाइल जब्त कर लिए हैं, जिनमें से दो टीआई हाकमसिंह का और एक महिला के भाई कमलेश का है। इसे जांच के लिए भोपाल फोरेंसिक लैब भेजा गया है, जबकि एएसआई का मोबाइल अभी तक गायब है। क्रेटा गाड़ी भी महिला के पुलिसकर्मी के भाई कमलेश के नाम से रजिस्टर्ड की गर्ठ यह गाड़ी हाकम सिंह ने ही दिलाई थी। इसे इाकम सिंह ने लेने के कलिए ही तीन जून 2021 को कमलेश ने भोपाल पुलिस को एक आवेदन दिया था। इसमें हाकम सिंह पर आरोन लगाए थे कि वे कमलेश की गाड़ी वापस नहीं कर रहे हैं।

आवेदन के बाद कुछ दिन पहले हाकम सिंह और कमलेश की फोन पर चर्चा हुई थी। हाकम सिंह ने यह कार इंदौर आकर कमलेश को वापस देने की बात कही थी। कमलेश, उसकी बहन रजनी और हाकम सिंह तीनों पुलिस कंट्रोल रूम में आईसीएच में मिले। यह मुलाकात हादसे के एक दिन पहले यानी गुरुवार को हुई थी। इस दौरान तय हुआ था कि हाकम सिंह शुक्रवार को गाड़ी दे देंगे, लेकिन गाड़ी सौंपने के पहले ही हाकम सिंह ने ख्ुाद को गोली मार ली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!