August 17, 2022
सिसवा विकास खण्ड का मामला: बगैर ग्राम रोजगार सेवक के कैसे हो रहा मनरेगा कार्य

सिसवा बाजार-महराजगंज। सरकार चाहती है कि गांव के लोगों को अपने कार्यों के लिए विकास खण्ड कार्यालयों पर दौड़ना न पड़े इसके लिए हर गांव में पंचायत भवन हो या फिर मिनी सचिवालय वही अधिकारी बैठेंगे इस के लिए पिछले कुछ माह पहले हर गांव में लाखों रूपये खर्च कर कम्प्यूटर सहित तमाम उपकरण खरीदे गये और पंचायत सहायकों की नियुक्ति भी हुई लेकिन अब तक एक गांव में कार्य शुरू नही हो सका है।

सरकार की मंशा है कि गांव में रहने वाले लोगों को ग्राम सभा से सम्बंिधत कार्यों के लिए दूर स्थित खण्ड विकास कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ता है, कभी अधिकारी मिलते है तो कभी नही मिलते ऐसे मे जनता परेशान होती है, इन परेशानियों को देखते हुए सरकार ने यह फैसला किया कि हर ग्राम पंचायत में पंचायात भवन या फिर मिनी सचिवालय को सही किया जाए और वहीं अधिकारी बैठ कर अपना कार्य करेंगे।

बताते चले सिसवा विकास खण्ड में कुल 60 ग्राम पंचायत है ऐसे में हर गांव में पंचायत भवन हो या फिर मिनी सचिवालय, पहले लाखो रूपये खर्च कर मरम्मत कराया गया फिर लाखों रूपये खर्च कर कम्प्यूटर सहित तमाम उपकरण की खरीद हुई, इतना नही यहां कार्य करने के लिए पंचायत सहायकों की भी नियुक्ति की गयी लेकिन अभी तक एक भी ग्राम पंचायत में सरकार की यह व्यवस्था शुरू नही हो सका।

मामला यही तक नही है जो जानकारी मिल रही है उसके अनुसार सिसवा विकास खण्ड के कुल 60 ग्राम पंचायतों में 54 में पिछले कई माह पहले ही लाखों रूपये खर्च कर कम्प्यूटर व अन्य उपकरण की खरीद हो चुकी है लेकिन वह पंचायत भवन या फिर मिनी सचिवालय तक नही पहुंच सका है, जिससे सरकार की मंशा असफल हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!