August 17, 2022
मिग विमान फिर हादसे का शिकार, दोनों पायलटों की मौत, 1 किमी तक बिखरा मलबा

MiG plane again crashed, both pilots died, debris scattered for 1 km

बाड़मेर। राजस्थान से एक बड़ी खबर आ रही है जिसमें एक मिग विमान हादसे का शिकार हो गया। राजस्थान के बाड़मेर जिले में बीती रात एक एमआईजी-21 हादसे की चपेट में आकर क्रैश हो गया। ये एमआईजी-21 विमान बाड़मेर जिले के बायतू इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हुआ है।

घटना इतनी भीषण थी कि विमान का मलबा करीब 1 किमी के दायरे में जाकर बिखर गया। खबर के मुताबिक इस हादसे में प्लेन में मौजूद दोनों पायलट शहीद हो गए हैं। बता दें कि, विमान में दो पायलटों के पैराशूट नहीं खुले थे। हालांकि, घटना की जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन ओर एयरफोर्स के अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।

दरअसल ये हादसा बायतु थाना क्षेत्र के भीमड़ा गांव में हुआ है। वहीं, इस मामले में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बाड़मेर में मिग-21 लड़ाकू विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने पर भारतीय वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी से बात की। इस दौरान वायुसेना प्रमुख ने उन्हें घटना के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। जानकारी के अनुसार, विमान नीचे गिर गया और आग का गोला बन गया। ऐसे में बताया जा रहा है कि हादसे में दोनों पायलट की मौत हो गई है।

वहीं, फाइटर जेट मिग 21 के क्रैश होने की सूचना से गांव में अफरा तफरी मच गई। हालांकि, यह घटना करीब रात 9 बजे की बताई जा रही है। हादसे के दौरान प्लेन का मलबा आधा किलोमीटर तक बिखर गया है। ये हादसा इतना भीषण था कि पूरे इलाके में तेज धमाके के साथ आग की लपटें देख लोगों में अफरा तफरी मच गई। सूचना मिलते ही फायर बिग्रेड की गाडिय़ा घटनास्थल के लिए रवाना हो गई है। गनीमत रही कि विमान हादसे से पहले आबादी वाले इलाके से दूर पहुंच चुका था। फिलहाल जिला प्रशासन और वायु सेना के अधिकारी मौके पर पहुंच रहे हैं।

इस मामले में भारतीय वायु सेना के मुताबिक, वायुसेना का एक ट्विन सीटर मिग-21 ट्रेनर विमान आज शाम राजस्थान के उतरलाई हवाई अड्डे से प्रशिक्षण के लिए उड़ान के लिए रवाना हुआ था। जहां रात करीब 9रू10 बजे बाड़मेर के पास विमान का एक्सीडेंट हो गया। इस दौरान दोनों पायलटों को मौत हो गई है। वहीं, भारतीय वायुसेना को जान गंवाने का गहरा अफसोस है। हालांकि, मृतक परिवारों के साथ वायुसेना मजबूती से खड़ी है। वहीं, हादसे के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंचयरी के आदेश दे दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!