August 12, 2022
गौ रक्षा के द्वारा ही हो सकती हैं राष्ट्र की रक्षा: अवधेश जी

रायबरेली| गोरक्षा विभाग रायबरेली की बैठक आज रविवार को शहर के इंदिरा नगर स्थित एक लॉन में संपन्न हुई।

बैठक में विभाग संयोजक आशीष पाठक ने मुख्य अतिथि राष्ट्रीय उपाध्यक्ष गोरक्षा विभाग अवधेष व विशिष्ट अतिथि चंद्र भान सिंह व समाजसेवी विजय रस्तोगी से गौ माता व प्रभु श्री राम का पूजन अर्चन कराकर कार्यकर्ताओं का परिचय कराया एवं समरघोष प्रांत संयोजक हरिश्चंद्र शर्मा ने किया व सभी का स्वागत एवं अभिनंदन किया, मुख्य अतिथि राष्ट्रीय उपाध्यक्ष गोरक्षा विभाग अवधेश जी एवं विशिष्ट अतिथि चंद्र भान सिंह,विजय रस्तोगी का संयुक्त रूप से आशीष पाठक व हरिश्चंद्र शर्मा ने अंगवस्त्र,स्मृति चिन्ह व तिलक लगाकर स्वागत किया गया तत्पश्चात बैठक का संचालन किया गया|

सबसे पहले मुख्य अतिथि ने मंत्रो उच्चारण से बैठक की शुरुवात की। यं वैदिका मन्त्रदृशः पुराणाः इन्द्रं यमं मातरिश्वा नमाहुः वेदान्तिनो निर्वचनीयमेकम् यं ब्रह्म शब्देन विनिर्दिशन्ति शैवायमीशं शिव इत्यवोचन् यं वैष्णवा विष्णुरिति स्तुवन्ति बुद्धस्तथार्हन् इति बौद्ध जैनाः सत् श्री अकालेति च सिख्ख सन्तः शास्तेति केचित् कतिचित् कुमारः स्वामीति मातेति पितेति भक्त्या यं प्रार्थन्यन्ते जगदीशितारम् स एक एव प्रभुरद्वितीयः।
इस मौके पर सभी कार्यकर्ताओं को मुख्य अतिथि ने श्रावण मास एवं रक्षाबंधन की शुभकामनाएं दी। साथ ही गोरक्षा विभाग के चारों संगठनों के बारे जानकारी ली एवं आगे तीन माह का लक्ष्य तय किया , चारों संगठनों का प्रमुख घोषित करने एवं प्रखंड स्तर तक विस्तार करने का आह्वान भी किया। चारों संगठनों में भारतीय गोवंश रक्षण संवर्धन परिषद, गोवंश हत्या एवं मांस निर्यात निरोध परिषद, राष्ट्रीय गोरक्षा आंदोलन समिति और भारतीय गो विज्ञान परीक्षा के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी।

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अवधेष ने कहा कि कर्ज मुक्त किसानों के लिए गोवंश आधारित खेती, रोजगार युक्त नौजवान हों, इसके लिए अनेक गौ उत्पाद, स्वस्थ भारत और स्वच्छ भारत के लिए पंचगव्य चिकित्सा एवं घरेलू उपचार एवं गौ दुग्ध, गो संरक्षण इसके लिए गोरक्षा, गोसेवा, गोपालन और गोभक्त ही भारतीय धर्म संस्कृति के अंग हैं और पदाधिकारियों से कहा कि वह अच्छे समाज के सेवानिवृत्त प्रशासनिक बंधुओं को गोरक्षा विभाग से जोड़े।
प्रांत संयोजक चंद्र भान सिंह ने गोरक्षा के आगामी कार्यक्रमों के बारे बताया। उन्होंने कहा कि 13 से 17 अगस्त में गोरक्षा विभाग का फतेहपुर में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित है जिसमे रायबरेली विभाग से पदाधिकारियों पहुंचने को कहा ,सितम्बर माह में गो रक्षा का राष्ट्रीय अधिवेशन राष्ट्रीय गो रक्षा आंदोलन समिति विश्व हिंदू परिषद द्वारा गाजियाबाद में आयोजित होगा,प्रांत संयोजक हरिश्चंद्र शर्मा ने कहा कि क्षेत्र एवं प्रांत तक कोई गोवंश सड़क पर बेसहारा घायल न घूमें एवं गो तस्करी रोकने के लिए सरकार एक गो मंत्रालय स्वतंत्र बनाए,विभाग संयोजक आशीष पाठक ने गोरक्षा विभाग जन जागरण हेतु शीघ्र गोरक्षा किसान सहायता रथ चलाएगा। इसके माध्यम से जैविक खेती के लिए गो कृपा अमृतम् निःशुल्क वितरण करेगा तथा प्रशिक्षण देगा।

मुख्य अतिथि राष्ट्रीय उपाध्यक्ष गोरक्षा विभाग अवधेष ने विहिप गौरक्षा एवं सामाजिक समरसता विषय पर प्रकाश डाला,उन्होंने गो उत्पाद पंचगव्य चिकित्सा, जैविक खेती, नस्ल सुधार, गौशालाएं और गौरक्षा कार्यकर्ता प्रशिक्षण वर्ग, अखिल भारतीय बैठक, गोरक्षा मातृशक्ति एवं राष्ट्रीय गौरक्षा आंदोलन समिति के राष्ट्रीय अधिवेशन आदि के विषयों पर महत्वपूर्ण प्रकाश डालते हुए संगठनात्मक योजना रचना बनाई। प्रांत संयोजक चंद्र भान सिंह, हरिश्चंद्र शर्मा व विभाग संयोजक आशीष पाठक ने संगठन विस्तार हेतु कुछ नवीन दायित्वों की घोषणा की जिसमें गौ रक्षा आंदोलन समिति रायबरेली में जिला सह संयोजक ब्रजेश अग्रहरि, जिला उपाध्यक्ष इंदर कुमार, जिला उपाध्यक्ष पिंटू गुप्ता,जिला मंत्री विकास सिंह,गो विज्ञान परीक्षा का जिला सह संयोजक आशीष शुक्ला, गौ हत्या एवं मांस निर्यात निरोध परिषद के जिलाध्यक्ष रंजीत शर्मा, जिला मंत्री तनिष्क श्रीवास्तव,जिला मंत्री हर्षित जायसवाल, गो विज्ञान परीक्षा का जिलाध्यक्ष विकास श्रीवास्तव, आदि जिलों के पदाधिकारियों के नामों की घोषणा की गयी|

इस मौके पर प्रमुख रूप से गोरक्षा जिला सह संयोजक प्रशांत अग्निहोत्री,गोरक्षा प्रमुख संतोष सोनी,आकाश श्रीवास्तव,संदीप पांडे,विनय,सहित जनपद के सैकड़ों पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!