August 18, 2022
बारिश में नहाने के इन फायदों को जान आप भी नहीं रोक पाएंगे खुद को बौछार में भीगने से!

मानसून का सीजन जारी हैं और देश के हर हिस्से में बरसात की बौछार जारी हैं। कई लोग तो बरसात का इंतजार करते हैं और पहली बूंद गिरने के साथ ही भीगने के लिए घर के बाहर निकल आते हैं या छत पर पहुंच जाते हैं। लेकिन वहीँ कई लोग ऐसे हैं जो बरसात में भीगना पसंद नहीं करते हैं क्योंकि वो इसके फायदे नहीं जानते हैं। जी हां, बारिश में भीगना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। बारिश का पानी बहुत हल्का होता है और इसका पीएच क्षारीय होता है जो वॉटर थेरेपी की तरह काम करता हैं। बारिश के पानी से सेहत के साथ ही स्किन को भी फायदे पहुंचाने के गुण होते हैं। आइये जानते हैं इन फायदों के बारे में…

हार्माेनल संतुलन और मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद
बारिश के पानी में नहाने के बाद बहुत से लोग ऐसा मानते हैं कि उन्हें बहुत अच्छी नींद आती है। ये बात गलत भी नहीं है। दरअसल ऐसा माना जाता है कि बारिश के पानी में भीगने या नहाने से व्यक्ति के शरीर में सही तरीके से हार्माेन बनता है और हार्माेन का संतुलन भी बना रहता है। वहीं ये आपको शांत करके रिलेक्स महसूस करवा सकता है। इस तरह ये हार्माेनल संतुलन और मानसिक स्वास्थ्य दोनों के लिए फायदेमंद है।

घमौरियां होती हैं दूर
गर्मी के मौसम में पसीने की वजह से घमौरियां हो जाती हैं और ज्यादातर बच्चों को यह परेशानी अधिक होती है। गर्मी की वजह से घमौरियां छोटे-छोटे दाने के रूप में पीठ और गर्दन पर हो जाती हैं और चुभती हैं। बारिश में नहाने से इस परेशानी से छुटकारा मिल जाता है।

आपका मेटाबॉलिज्म बढ़ सकता है
2013 में किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि बारिश में आपका शरीर ठंडा हो जाता है और ठंड की स्थिति में आपके शरीर की ऊर्जा की मांग बढ़ जाती है। ठंडी स्थिति में किसी भी प्रकार का व्यायाम करते समय, आपके शरीर का तापमान बढ़ जाता है। यदि आप ठंडे तापमान में काम कर रहे हैं, तो वातावरण आपके शरीर को ठंडा करने और अधिक स्थिर तापमान बनाए रखने में मदद करता है। इसलिए, बारिश में दौडऩे से आपका मेटाबॉलिज्म बढ़ सकता है!

बेहतरीन क्लींजर है बारिश का पानी
बारिश का पानी एक बेहतरीन क्लींजर की तरह काम करता है। पुराने लोग आज भी इस पानी का इस्तेमाल करके शरीर से लेकर कपड़ो तक की सफाई करते हैं और कहते हैं कि ये इससे बेहतरीन क्लींजर कोई हो नहीं सकता। आप चाहें तो बारिश का पानी किसी साफ बर्तन या बॉटल में भरकर रख लें। सोने से पहले अपनी त्वचा पर इस पानी को लगाएं या इससे त्वचा को साफ करें। कुछ ही दिन में आपकी त्वचा बेदाग और मुलायम हो जाएगी। सुबह उठकर इस पानी से चेहरा धोने पर त्वचा का रंग भी साफ होता है। झांइयां और दाग-धब्बे भी मिट जाते हैं।

दाद, खाज, खुजली से छुटकारा
गर्मी में कुछ लोगों के हाथ व पैरों से त्वचा निकलना शुरू हो जाती है और पैर की एडिय़ां फट जाती है। साथ ही पैर की दरारों से काफी खून भी निकलने लगता है। ऐसे लोगों के लिए बारिश का पानी काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। बारिश का पानी लगते ही दाद, खाज, खुजली ठीक हो जाती हैं।

विटामिन बी12 का होता हैं उत्पादन
बारिश का पानी बहुत हल्का होता है और इसका पीएच एल्कलाइन होता है। यह आपके दिमाग को पल भर में तरोताजा करने की ताकत रखता है। बारिश के पानी में सूक्ष्मजीव होते हैं जो विटामिन बी12 का उत्पादन करने की क्षमता रखते हैं। यदि आप विटामिन प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप 10-15 मिनट के लिए बारिश में सुरक्षित रूप से स्नान कर सकते हैं।

बालों और स्किन के लिए फायदेमंद
बालों में जमे धूल और गंदगी को पूरी तरह से साफ करने में बारिश का पानी बहुत फायदेमंद होता है। वहीं जिन लोगों को अकसर गर्मियों के मौसम में घमौरियां हो जाती हैं उनके लिए ये रामबाण इलाज है। दरअसल ये रैशेज त्वचा पर सर्द गर्म होने के कारण होती हैं। अकसर बच्चे जब पसीने में नहा लेते हैं तो उनकी स्किन पर छोटे छोटे दाने हो जाते हैं। गर्मी बढऩे पर ये दाने काटते भी हैं। इन्हें दूर करने के लिए बच्चों को बारिश में नहाना चाहिए। इससे त्वचा का तापमान संतुलित होता है और घमौरियां भी ठीक हो जाती हैं।

बारिश में कब नहाने से बचें
अकसर पहली बारिश का लुत्फ उठाना चाहते हैं, जबकि ये फायदेमंद नहीं है। पहली बारिश में नहाने से हमें हमेशा बचना चाहिए क्योंकि इससे न सिर्फ स्वास्थ्य खराब होने का खतरा बढ़ सकता है बल्कि त्वचा सम्बंधी बीमारियां भी हो सकती हैं। रैशेज, मुंहासे जैसी समस्याओं का अकसर पहली बरसात में भीगने से और बढ़ जाती है। इसके पीछे एक वजह यह है कि बरसात की पहली फुहार प्रदूषित या एसिड रेन वाली होती है, जिसका आपकी त्वचा पर खराब असर पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!