October 2, 2022
लावारिस दिव्यांग जनों के बीच स्वरांजलि सेवा संस्थान ने मनाया आजादी का जश्न, लावारिस दिव्यांग, मानसिक बीमार और विक्षिप्तों की सेवा में लगी रहती है संस्थान

Swaranjali Seva Sansthan celebrates independence among unclaimed disabled people, the institute is engaged in the service of unclaimed disabled, mentally ill and deranged

वाल्मीकिनगर। भारत नेपाल सीमा पर अंतरराष्ट्रीय न्यास स्वरांजलि सेवा संस्थान द्वारा लावारिस दिव्यांग जनों के बीच आजादी का जश्न मनाया गया। इस कार्यक्रम के तहत सड़कों पर विचरण करने वाले लावारिस दिव्यांग, मानसिक बीमार और विक्षिप्तों के बीच स्वरांजलि सेवा संस्थान द्वारा राष्ट्रीय मिठाई जलेबी सहित स्वादिष्ट पूड़ी और सब्जी का निःशुल्क वितरण किया गया।

समाजसेवी संगीत आनंद और संस्था के संस्थापक डी. आनन्द ने कहा कि हर वर्ष स्वतंत्रता दिवस का जश्न हम सभी ऐसे ही मनाते हैं। दिव्यांग जनों के हाथों में भी तिरंगा देकर भारत माता की जय, स्वतंत्रता दिवस अमर रहे आदि नारे लगवाने की कोशिश की गई। ऐसे मानसिक रोगियों के स्वस्थ होने की कामना की गई।
संस्था के मैनेजिंग डायरेक्टर संगीत आनंद ने कहा कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी स्वतंत्रता दिवस की खुशी हम सभी लावारिस दिव्यांग जनों के बीच सेलिब्रेट कर रहे हैं। आजादी की 75 वीं वर्षगांठ, आजादी का अमृत महोत्सव और स्वतन्त्रता दिवस का सही मायने में यही मतलब है। भारत देश में हर कोई खुशहाल हो। हर कोई संविधान की धारा से जुड़े।

संस्था की राष्ट्रीय अध्यक्षा अंजू देवी ने कहा कि हमारी यही कोशिश रहती है कि राष्ट्रीय पर्व त्यौहार में विशेष व्यंजन इन लावारिस दिव्यांग जनों को दिया जाए। बताते चलें कि 14 नवंबर 2012 से हर दिन सुबह शाम भारत-नेपाल सीमा पर घूम घूम कर ऐसे लावारिस दिव्यांग जनों को एसएसएस ट्रस्ट द्वारा निःशुल्क भोजन दिया जाता है। उनके लिए वस्त्र, ठंड के मौसम में गर्म कपड़े और कंबल का भी इंतजाम किया जाता है। मरणोपरांत ऐसे लोगों का अंतिम संस्कार भी कराती है यह संस्था।

संस्थापक डी. आनन्द ने कहा कि कि अब तक दर्जनों लावारिस दिव्यांग जनों को उनके परिजनों से मिलवाया जा चुका है। आजादी का जश्न दिव्यांग जनों के बीच मनाना काफी अच्छा लगता है। आसपास के इलाके में रहने वाले लोग दैनिक चलंत दरिद्र नारायण भोज की जमकर तारीफ कर रहें हैं। इसके तहत अस्पताल कॉलोनी ,टीना शेड कॉलोनी, गोल चौक, छाता चौक, टंकी बाजार ,लव-कुश घाट, हवाई अड्डा, शिव मंदिर,आदि क्षेत्र में रहने वाले दिव्यांग जन लाभान्वित हुए।

इस मौके पर संस्था के सचिव अखिलानंद,कोषाध्यक्ष शिवचंद्र शर्मा, गायिका बबीता राज, अभिनेत्री संगीता कुमारी, पिंकी कुमारी, अनमोल कुमार, साहित्यकार सच्चिदानंद सौरभ, मोतिहारी एनसीसी के प्रशिक्षक सुजीत कुमार, संजीत कुमार यादव, इंडियन आयल मोतिहारी के सुमित केसरी ,संतोष कुमार,गायक राजा कुमार आदि उपस्थित थे।

शिक्षक उदय नारायण एवम् विजय प्रकाश ने तारीफ करते हुए कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव मनाने का यह तरीका सबसे जुदा है। भूखों को भोजन कराना, सचमुच यही सच्ची राष्ट्रभक्ति और समाज सेवा है।
कार्यक्रम के अंत में वाल्मीकि नगर के माननीय विधायक धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ रिंकू सिंह, वरीय संवेदक श्री पिंटू सिंह, संवेदक राणा सिंह, लल्लू सिंह, चंदन जायसवाल, अवधेश गुप्ता आदि विशिष्ठ सहयोगियों के प्रति संगीत आनंद ने आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!