October 3, 2022
शारीरिक संबंध बनाने से मना करती थी पत्नी, पति ने दी खौफनाक सजा

15 days heavy for Indore, many dams had to open the gates

इंदौर। मध्यप्रदेश के ज्यादातर शहरों में तेज बारिश का दौर जारी है। नर्मदा, चंबल, बेतवा, ताप्ती, शिप्रा उफान पर है। कई बांधों के गेट खोलने पड़ गए हैं।
मौसम विभाग ने गुना, राजगढ़, आगर, मालवा, रतलाम, नीमच और मंदसौर जिलों ेमं बाढ़ का अलर्ट जारी कर किया है। भोपाल में दो दिन पानी खूब बरसा, 24 घंटे में छह इंच बारिश दर्ज हुई। खंडवा जिले में हाई अलर्ट है और इंदौर जिले के आने वाले 15 दिन भारी हैं, खूब बारिश और खराब मौसम देखने को मिल सकता है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौळान ने गत दिवस नर्मदापुरम के सेठानी घाट पहुंचकर बाढ़ के हालातों का जायजा लिया। नर्मदा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से आधा फीट नीचे है। खण्डवा में इंदिरासागर व ओमकारेश्वर बांध के गेट खोलने के बाद खंडवा जिले में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसके बाल मोरटक्का के नर्मदा पुल से इंदौर-खंडवा का ट्रैफिक भी रोका गया है। डाउन स्ट्रीम एरिया में रहने वाले लोगों का रेस्क्यू करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

एसडीओपी और एसडीएम घाटों पर पहुंच गए हैं और व्यवस्था पर नजर बनाए हुए हैं। भोपाल ने दो दिन से लगातार बारिश के कारण भोपाल कलेक्टर अविनाश लावनिया ने मंगलवार को सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों की छुट्टी कर दी है। भोपाल के तीनों बांध कलियासोत, भदभदा और कोलार के गेट खोलकर पानी छोड़ा जा रहा है। भोपाल में मंगलवार रात तक खत्म हुए 24 घंटे में छह इंच पानी गिर चुका था। राजधानी में एक जून से अब तक सामान्य से 75 प्रतिशत ज्यादा पानी गिर चुका है। सामान्य तौर पर अब तक 24 इंच बरसात होना चाहिए थी लेकिन 50 इंच गिर चुका है। इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर में भी रुक-रुककर बारिश हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!