December 7, 2022
दिल्ली में भाजपा का आप पार्टी के तोडऩे का प्रयोग पूरी तरह से फेल: संजय सिंह

BJP’s experiment to break AAP in Delhi completely failed: Sanjay Singh

नई दिल्ली। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भारतीय जनता पार्टी पर यह आरोप लगाया है कि उन्हें भाजपा की तरफ से ऑफर दिया गया था कि वह आम आदमी पार्टी को तोड़कर बीजेपी के साथ दिल्ली में सरकार बना ले इसके एवज में उन पर से सारे ईडी और सीबीआई के केस खत्म कर दिए जाएंगे।

मनीष सिसोदिया के बयान के बाद आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि भाजपा ने सीबीआई-ईडी का इस्तेमाल कर महाराष्ट्र, कर्नाटक, एमपी और गोवा में विधायक तोड़ कर सरकार बनाई। दिल्ली में भाजपा का यह प्रयोग पूरी तरह से फेल हो गया है।

भाजपा ने उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से कहा कि हमारे साथ आओगे तो हम आपके केस ख़त्म कर देंगे। मनीष सिसोदिया ने कहा कि हम महाराणा प्रताप के वंशज हैं, गद्दारी नहीं करेंगे। सांसद संजय सिंह ने कहा कि भाजपा में शामिल होने के बाद मुकुल राय, हेमंत बिश्व शर्मा, अजीत पवार, नारायण राणे, सुखराम और संजय राठौड का भ्रष्टाचार और सभी केस खत्म हो गए। आम आदमी पार्टी आंदोलन की कोख से निकली हुई पार्टी है। यहां भाजपाइयों के प्रयास कभी सफल होने वाले नहीं है। भाजपा शासित मोदी सरकार की फर्जी और झूठी कार्रवाईयों को पूरा देश देख रहा है और समय आने पर जवाब देगा।

संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया के ख़ुलासे के बाद पूरी की पूरी भारतीय जनता पार्टी सदमे में है। उसके पास कोई जवाब नहीं है। भाजपा द्वारा महाराष्ट्र, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड, बंगाल और गोवा सहित पूरे देश में विपक्षी सरकारों को गिराने, विधायक खरीदने और तोडऩे का जो सिलसिला चल रहा था। उसमें उनका सबसे बड़ा हथियार सीबीआई और ईडी था। वही प्रयोग वह दिल्ली में करना चाहते थे। वह प्रयोग पूरी तरीक़े से फ़ेल साबित हुआ। क्योंकि दिल्ली सरकार में तोड़-फोड़ करने के लिए उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से कहा कि सभी की तरह तुम्हारी भी ईडी, सीबीआई की जांच खत्म हो जाएगी। इसके बाद मनीष सिसोदिया ने साफ़ कह दिया कि हम महाराणा प्रताप के वंशज हैं, ऐसे टूटने और भागने वाले नहीं हैं। हम तुमसे लड़ेगे और तुम्हारी एक एक कार्रवाई का जवाब देंगे।

उन्होंने कहा कि यह वही भाजपा है जिसने नारद स्टिंग ऑपरेशन के ज़रिये मुकुल राय का भ्रष्टाचार खोलने की बात की। पूरे देश में हंगामा किया और कहने लगे कि नारद स्टिंग ऑपरेशन से मुकुल राय का भ्रष्टाचार खोल दिया। उस भ्रष्टाचार में जो-जो लोग शामिल थे, वह सारे के सारे मुकुल राय के साथ बीजेपी में शामिल हो गए। इसके बाद शारदा घोटाला और मुकुल राय का भ्रष्टाचार ख़त्म हो गया। उनको बीजेपी ने अपनी पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बना दिया। दूसरा हेमंत बिश्व शर्मा का वाटर घोटाला सामने आया। उस वाटर घोटाले में अमेरिका तक में चार्जशीट लगी। असम की उस समय की भारतीय जनता पार्टी के लोग आज मुंह दिखाने लायक नहीं हैं। तब वह बीजेपी के नेता बुकलेट जारी कर कह रहे थे कि इसमें हेमंत बिश्व शर्मा के वाटर घोटाले के भ्रष्टाचार की पूरी कहानी लिखी हुई है।

भाजपाइयों ने कहा कि अब कोई चिंता की बात नहीं है। हमारे साथ आओ हम तुम्हें मुख्यमंत्री बनाएंगे। वह हेमंत बिश्व शर्मा कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए। आज असम के मुख्यमंत्री हैं। महाराष्ट्र चुनाव में अजीत पवार को देवेंद्र फडणवीस कहते थे कि पवार साहब चक्की पीसींग-पीसींग, उनका बहुत बड़ा भ्रष्टाचार है। लेकिन चुनाव के बाद चोरी चोरी चुपके चुपके फिल्म के सीन की तरह सुबह साढ़े छह बजे देवेंद्र फडणवीस और अजीत पवार गए और शपथ लेकर आ गए। इसके अलावा नारायण राणे के खिलाए बाकायदा ज़मीन घोटाले का मामला चल रहा था। उनको अपने साथ तोड़ कर लाए और उनकी पार्टी का विलय कर लिया। उनको पहले राज्य सभा का सांसद बनाया और फिर देश का मंत्री बना दिया। इस देश में टेलीकॉम घोटाला हुआ था। उस टेलीकॉम घोटाले को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने 20 दिन तक संसद चलने नहीं दी थी। उसी सुखराम को हिमाचल प्रदेश के अंदर अपनी सरकार में उप-मुख्यमंत्री बनाने का काम किया। यह बीजेपी का चाल चरित्र और चेहरा। भाजपा के साथ जो लोग आ जाते हैं, वह तुरंत ईमानदार हो जाते हैं। उनकी ईडी-सीबीआई की जांच बंद हो जाती है। उनका भ्रष्टाचार ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!