January 27, 2023
प्रसिद्ध आलिमे दीन व शिक्षाविद मौलाना जमील अहमद का हुआ निधन

सिद्धार्थनगर। धर्मगुरु (मशहूर आलिमे दीन) मौलाना जमील अहमद फैजी का निधन हो गया। जिसके बाद उनका अंतिम संस्कार( उन की नमाजे जनाजा) उनके पैतृक निवास स्थान महुआ पोस्ट तिलौली बाजार सिद्धार्थनगर में मौलाना शकील अहमद सल्फी के द्वारा पढ़ाई गई। उसके बाद उनके पैतृक कब्रिस्तान में उनको दफन किया गया।

मदरसा के प्रिंसिपल के निधन पर मदरसा के शिक्षकों ने जताया शोक

मौलाना ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गांव के ही प्राइमरी स्कूल में ग्रहण की।उसके बाद जामिया इस्लामिया अकबरपुर जमुनी मैं कक्षा 6 में दाखिल हुए। उसके बाद जामिया सिराजुल उलूम झंडेनगर नेपाल में शिक्षा ग्रहण की। फरागत की उपाधि उन्हें मदरसा फैजे-आम मऊ में मिली। फरागत के बाद मदरसा इस्लामिया अकबरपुर जमुनी में शिक्षण कार्य करने लगे। उसके बाद अल जामियातुल अरबिया मजहरुल उलूम औसानकुइयाँ में आ गए एवं प्रधानाचार्य बनाए गए।वहां पर वे सन 2007 तक प्रधानाचार्य के पद पर कार्य करते रहे। उसके बाद उनकी नियुक्ति सहायक अध्यापक फोकानिया के पद पर मदरसा अरबिया मिफ्ताहुल उलूम टिकरिया में हो गई। सन 2011 तक वह इस पद पर कार्य करते रहे। उसके बाद उनका पारस्परिक स्थानांतरण पुनः अलजामिया तुल अरबिया मजहरूल उलूम औसानकुइयाँ में हो गया और वे इंचार्ज प्रधानाचार्य के पद का निर्वहन करने लगे।अंतिम क्षणों तक वे इसी पद पर कार्य करते रहे।

मौलाना सुफियान अख्तर नदवी टिकरिया ने उनके देहांत पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि आप पूरे मुस्लिम समाज के लिए एक महत्वपूर्ण व्यक्ति थे। आप काफी हंसमुख एवं अच्छे व्यवहार के व्यक्ति थे। आपके देहांत को उन्होंने पूरे समाज के लिए एक क्षतिपूर्ति बताते हुए उनकी मगफिरत के लिए दुआ किये जाने की अपील भी की।उन की नमाजे जनाजा व मिट्टी में कुल्लियत तैयबा निस्वा कॉलेज के शिक्षक मौलाना अब्दुल गनी सल्फी, मौलाना इकबाल अहमद,मौलाना अब्दुल मन्नान मिफ़्ताही,मौलाना सिद्दीक, मौलाना रियाजुद्दीन मदनी,मौलाना सरफुद्दीन सल्फी,मौलाना ओबैदुल्लाह फैजी,मौलाना अब्दुल सत्तार सिराजी, कारी तौहीद अहमद बैतूल उलूम अजगरा के अतिरिक्त मदरसा अरबिया मिफ्ताहुल उलूम टिकरिया के प्रधानाचार्य मौलाना अब्दुल रहमान सल्फी,मौलाना जहीर अहमद रहमानी,मौलाना अब्दुस्सलाम सल्फी, मास्टर अब्दुल मोगीस आदि ने सम्मिलित होते हुए मौलाना के देहांत पर काफी शोक व्यक्त करते हुए कहा कि इल्मो अदब का रोशन चिराग आज डूब गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!