home page

मातृ-शिशु मृत्यु दर को कम करने मिशन मोड से करें काम : CM चौहान

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्वास्थ्य केन्द्र और उप स्वास्थ्य...
 | 
मातृ-शिशु मृत्यु दर को कम करने मिशन मोड से करें काम : CM चौहान

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्वास्थ्य केन्द्र और उप स्वास्थ्य केन्द्र को हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर में उन्नयन कर उपलब्ध कराई गई जाँचों की सुविधा और मिलने वाली नि:शुल्क दवाओं की सूची को प्रदर्शित किया जाये। आम नागरिकों को जानकारी होना चाहिये कि उन्हें अपने समीप के स्वास्थ्य केन्द्र पर नि:शुल्क जाँचें और दवाएँ उपलब्ध हैं। इसके लिये उन्हें किसी प्रायवेट अस्पताल जाने की आवश्यकता नहीं है।

मुख्यमंत्री चौहान ने यह निर्देश गुरुवार को मंत्रालय में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की समीक्षा में दिये। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े, एमडी एनएचएम प्रियंका दास और अधिकारी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र और उप स्वास्थ्य केन्द्रों का हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर में उन्न्यन किया गया है। हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर में परिवर्तित किये गये प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में 63 प्रकार की जाँच और 204 प्रकार की औषधियाँ तथा उप स्वास्थ्य केन्द्र पर 97 प्रकार की औषधियाँ और 14 प्रकार की जाँच उपलब्ध कराई जा रही हैं। इसकी जानकारी आम नागरिकों को होना चाहिये। इसके लिये जाँच और दवाओं की सूची को स्वास्थ्य केन्द्रों और उप स्वास्थ्य केन्द्रों पर प्रदर्शित किया जाये। आम नागरिक इससे अपने समीप के स्वास्थ्य केन्द्र में उन्हें उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं का लाभ ले सकेंगे। उन्हें जानकारी के अभाव में प्रायवेट अस्पताल अथवा बड़े शहरों की तरफ नहीं जाना पड़ेगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आमजन का सरकारी अस्पतालों पर भरोसा बढ़ाने के लिये हर संभव प्रयास करें।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मातृ और शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिये टीकाकरण, संस्थागत प्रसव आदि अनेक कार्यक्रम हैं। इन सभी कार्यक्रमों का उद्देश्य मातृ और शिशु मृत्यु दर को कम करना है। उन्होंने कहा कि मातृ और शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिये मिशन मोड में काम करें। मुख्यमंत्री चौहान ने क्षय उन्मूलन कार्यक्रम को प्रभावी रूप से संचालित करने के निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेश के सभी जिलों के जिला अस्पतालों और अन्य स्वास्थ्य संस्थाओं को सुविधा सम्पन्न बनाने के लिये कहा। उन्होंने कहा कि जिला अस्पतालों में सभी प्रकार के उपचार की सुविधाएँ उपलब्ध होना चाहिये, इसे सुनिश्चित करें। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने अस्पतालों में विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी को पूरा करने के लिये विशेषज्ञ चिकित्सकों की नियुक्ति करने के संबंध में अवगत कराया। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञ चिकित्सकों की नियुक्ति जल्द ही कर ली जायेगी। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने विभागीय कार्यक्रमों के क्रियान्वयन की अद्यतन स्थिति का प्रेजेंटेशन दिया।