home page

युवाओं को प्रशिक्षण देकर प्लेसमेंट और रोजगार से जोड़ें: CM चौहान

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि युवाओं को प्रशिक्षण देकर अधिकाधिक प्लेसमेंट...
 | 
युवाओं को प्रशिक्षण देकर प्लेसमेंट और रोजगार से जोड़ें: CM चौहान

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि युवाओं को प्रशिक्षण देकर अधिकाधिक प्लेसमेंट और रोजगार से जोड़ने की कोशिश की जाये। हर माह होने वाले प्लेसमेंट की जानकारी का प्रचार-प्रसार कर लोगों तक पहुँचायें। मुख्यमंत्री चौहान आज मंत्रालय में तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार विभाग की समीक्षा कर रहे थे।

हर विकास खंड में एक आईटीआई होना चाहिए

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हर विकास खंड में एक आईटीआई होना चाहिए। उन्होंने कहा कि आईटीआई भवनों का गुणवत्तापूर्ण निर्माण हो। आज की आवश्यकता को देखते हुए इन्फ्रास्ट्रक्चर सुदृढ़ रहे। किसी भी हालत में घटिया निर्माण बर्दाशत नहीं होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि एमएसएमई और उद्योग विभाग मानव संसाधन का विकास करें।

ऑक्सीलन प्लांट, कंसन्ट्रेटर की मरम्मत का प्रशिक्षण दें

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि ऑक्सीजन प्लांट, कंसन्ट्रेटर आदि की मरम्मत को ध्यान में रखते हुए युवाओं को प्रशिक्षण दें। शासकीय संस्थाओं में मशीन, औजार और उपकरणों की मरम्मत के लिए प्रशिक्षण देकर रोजगार प्रदान करें।

आज की आवश्यकता के अनुरुप हों प्रशिक्षण

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आज की आवश्यकताओं के अनुरुप ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित किये जायें। उन्होंने कहा कि नये आईटीआई भवनों में उपकरणों की व्यवस्था कर वर्कशॉप चालू करें। ग्लोबल स्किल पार्क का तेजी से कार्य करें। आईटीआई की उपयोगिता बहुत अधिक है। इसलिए अधिक से अधिक आईटीआई खुलें। उन्होंने कहा कि अभी प्रतिमाह युवाओं को प्लेसमेंट दे रहे हैं, इसे और बढ़ाया जाये। आईटीआई को बेहतर उपयोगी बनाकर मॉडल के रुप में विकसित कर दिखायें। लोगों को जॉब देने का सबसे प्रभावी तरीका आईटीआई ही है। इस पर फोकस करें।

उपयोगी पाठ्यक्रम शुरु करायें

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि नए उपयोगी पाठ्यक्रम शुरु करने की कार्यवाही सुनिश्चित हो। प्रदेश के किसी एक इंजीनियरिंग कॉलेज में मातृभाषा में पढ़ाई शुरु कराई जाये। ऑनलाइन कोर्सेस भी शुरु कराये जायें।

मुख्यमंत्री चौहान ने शॉर्ट और लांग टर्म प्लानिंग करने के निर्देश दिए। अमले और उपकरण की व्यवस्था करने, पुराने आईटीआई बेहतर ढंग से चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पॉलिटेक्निक महाविद्यालयों को बहुउपयोगी बनायें। ग्लोबल स्किल पार्क और 10 संभागीय आईटीआई को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बनायें।

इस अवसर पर तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने निर्माणाधीन ग्लोबल स्किल पार्क की जानकारी दी उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर अभ्यार्थी पंजीकरण तथा संलग्न शिक्षु योजना में प्रदेश वर्ष 2020-21 में पांचवे स्थान पर अपनी जगह बनाने की जानकारी दी इस अवसर पर प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा आकाश त्रिपाठी,संचालक कौशल विकास जितेंद्र राजे, मध्य प्रदेश कौशल विकास परियोजना के प्रोजेक्ट डायरेक्टर हरजिंदर सिंह तथा एमपी एस एस डी ई जीबी की सीईओ षणमुख प्रिया उपस्थित थी