home page

साँची को प्रथम सोलर सिटी बनाने के लिए कार्यों की गति बढ़ाएँ : CM चौहान

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विश्व धरोहर स्थल रायसेन जिले...
 | 
साँची को प्रथम सोलर सिटी बनाने के लिए कार्यों की गति बढ़ाएँ : CM चौहान

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विश्व धरोहर स्थल रायसेन जिले के नगर साँची को प्रथम सोलर सिटी के रूप में पहचान दिलवाने के लिए कार्यों की गति बढ़ाई जाए। यह प्रदेश की अद्भुत उपलब्धि होगी। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि ओंकारेश्वर में स्थापित किए जा रहे फ्लोटिंग सोलर प्लांट के कार्यों को आगामी डेढ़ वर्ष में पूर्ण किया जाए। प्रदेश में ऊर्जा साक्षरता बढ़ाने के लिए प्रचार-प्रसार आधारित ठोस रणनीति पर अमल किया जाए। लोगों को बिजली की बचत का संदेश पहुँचाने के लिए रेडियो, टी.वी., सोशल मीडिया आदि का उपयोग किया जाए। बिजली बचाना, बिजली बनाने के बराबर है। राज्य हित में इस भाव को जन-जन तक पहुँचाया जाए।

मुख्यमंत्री चौहान आज मंत्रालय में नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री हरदीप सिंह डंग, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

साँची सोलर सिटी योजना

साँची सोलर सिटी योजना के तहत इस प्रमुख पर्यटन केन्द्र में 12 तकनीकी संस्थानों को ऑफ-ग्रिड सोलर प्लांट से संचालित किया जाएगा। आँगनवाड़ी भवनों को सौर ऊर्जा से ऊर्जीकृत किया जाएगा। साँची ग्रिड सिस्टम में 6 हजार किलोवाट क्षमता का सोलर सिस्टम लगाया जाना है। परियोजना में साँची के प्रत्येक घर, कृषि और उद्योग को सोलर सिस्टम से जोड़ा जायेगा। इससे बिजली का बिल, प्रदूषण, सरकारी सब्सिडी की आवश्यकता में कमी आने के साथ स्थानीय अर्थ-व्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा और साँची के पर्यटन महत्व में भी वृद्धि होगी। साँची को ग्राउंड माउंटेड सोलर सिस्टम बनाने के लिए नजदीकी गाँव नागोरी में 20 एकड़ जमीन चिन्हित की गई है।

घरों की छत पर लगाए जाए प्लांट

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सूरज से बिजली प्राप्त करने की परियोजनाओं का क्रियान्वयन तेज किया जाए। जहाँ सोलर पार्क और परियोजनाएँ महत्वपूर्ण हैं, वहीं घर-घर में सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा दिया जाए। सौर ऊर्जा का घरेलू उपभोक्ता भी प्रयोग करें। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सोलर रूफ-टॉप संयंत्र के उपयोग लिए लोगों को प्रोत्साहित करें। सोलर रूफ-टॉप के अधिकाधिक उपयोग लिए प्रचार अभियान संचालित किया जाए।

परियोजनाओं का क्रियान्वयन

मुख्यमंत्री चौहान ने आगर, नीमच और शाजापुर सौर परियोजनाओं के कार्यों को समय पर पूरा करने के निर्देश दिए। छतरपुर सौर परियोजना के लिए भी विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार कर ट्रांसेक्शन सलाहकार का चयन कर लिया गया है। मुरैना सौर परियोजना के लिए बेसलाइन सर्वे का कार्य चल रहा है। भूमि आवंटन की कार्यवाही को भी शीघ्र पूरा किया जा रहा है। कृषि उपयोग के लिए कुसुम योजना में विभिन्न कार्य निरंतर किए जा रहे हैं।

आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के रोडमैप में सम्पन्न कार्य

आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश में नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग ने संबंधित विभागों से अभिमत प्राप्त कर कार्यों को पूर्ण करने के प्रयास किए हैं। ऊर्जा साक्षरता अभियान में जलवायु परिवर्तन के दृष्टिगत ऊर्जा संरक्षण से संबंधित आवश्यक जानकारियाँ नागरिकों तक पहुँचाने की योजना है। विभिन्न पाठ्यक्रम मॉड्यूल में भी इसका समावेश किया जाएगा। विशेष टूल किट प्रदान कर जागरूकता प्रसार किया जाएगा।

मुख्यमंत्री चौहान के प्रमुख निर्देश

  • कुसुम योजना की बाधाओं के लिये बैंकर्स के साथ समन्वय करें।
  • आमजन में सोलर एनर्जी के प्रति जागरूकता बढ़ाएँ।
  • कार्य में लापरवाही करने वालों पर दण्डात्मक कार्रवाई करें।
  • ऊर्जा बचाने के लिए नागरिकों को संकल्प दिलवाने की रूपरेखा बनाएँ। कन्या-पूजन की तरह हर कार्यक्रम में लोगों को ऊर्जा बचाने का संकल्प दिलवाने का कार्य मैं स्वयं करूंगा।
  • सिंचाई योजनाओं के सोलर एनर्जी से संचालन की रणनीति और योजना तैयार की जाए।