home page

15 -18 वर्ष के बच्चों को दी जा रही वैक्सीन की पहली डोज

रायपुर : दन्तेवाड़ा जिले में राज्य शासन के निर्देशानुसार 15 से 18 वर्ष के बच्चो...
 | 
15 -18 वर्ष के बच्चों को दी जा रही वैक्सीन की पहली डोज

रायपुर : दन्तेवाड़ा जिले में राज्य शासन के निर्देशानुसार 15 से 18 वर्ष के बच्चो का टीकाकरण 3 जनवरी 2022 से प्रारंभ किया गया है। जिले के 10 स्कूलों में शत-प्रतिशत टीकाकरण कर अपना परचम लहराया है। जिला कलेक्टर श्री दीपक सोनी ने इन विद्यालयों के सभी प्राचार्य और स्वास्थ्य टीम को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी। जिले के समस्त स्कूलों में शिक्षा विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग के बेहतर समन्वय से लगातार छात्र-छात्राओं का टीकाकरण किया जा रहा है। जिले में कुल 17 हजार 560 छात्र-छात्राओं का टीकाकरण किया जाना है। जिले में अब तक 7011 छात्र-छात्राओं का टीकाकरण कर 40 प्रतिशत से अधिक बच्चों  टीकाकरण किया जा चुका है।


जिला प्रशासन से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के आस्था विद्यामंदिर जावंगा, शासकीय हाई स्कूल बालूद, शासकीय हाई स्कूल पंडेवार, गायत्री पीठ दंतेवाड़ा, निर्मलादेश पांडे धुरली, पोटाकेबिन कुआकोंडा-1, और पोटाकेबिन कुआकोंडा-2, शासकीय हाई स्कूल मैलावाड़ा, शासकीय हाई स्कूल कोडेनार-1, पोटाकेबिन पालनार के स्कूलों ने शत-प्रतिशत टीकाकरण पूर्ण कर लिया है।


दन्तेवाड़ा जिले के समस्त हाई स्कूल, हायर सेकंडरी स्कूलों में 2007 और उससे पहले जन्म लिए 15 से 18 वर्ष के छात्र -छात्राओं का टीकाकरण किया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा टीकाकरण हेतु कार्ययोजना तैयार कर आगामी तीसरी लहर को देखते हुए युद्धस्तर पर टीकाकरण किया जा रहा है। टीकाकरण अभियान में बच्चों में गजब का उत्साह देखा जा रहा है। जिले के समस्त विकास खण्ड में स्वास्थ्य एवं शिक्षा विभाग द्वारा बेहतर कार्ययोजना के साथ टीकाकरण दलों का गठन किया गया है। स्कूलों में टीकाकरण के प्रतिकूल प्रभाव से निपटने के लिए प्रत्येक केन्द्रों में एएफआई प्रबंधन हेतु चिकित्सा अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। बढ़ते संक्रमण में टीकाकरण एक प्रभावी माध्यम है अतः निर्धारित आयु वर्ग 15 से 18 वर्ष तक के छात्र-छात्राओं को अनिवार्य टीकाकरण के लिए  अभिभावकों से अपील की गई है कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव सबंधित दिशा-निर्देश और कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन करें।