home page

बड़ा झटका: रेल यात्रियों को एयरपोर्ट की तरह देना होगा स्टेशन यूजर चार्ज

 | 
बड़ा झटका: रेल यात्रियों को एयरपोर्ट की तरह देना होगा स्टेशन यूजर चार्ज

नई दिल्ली। भारतीय रेल ने आम आदमी को झटका दिया है। दरअसल ट्रेनों में आम आदमी के लिए सफर और महंगा होने जा रहा है। रेल यात्रियों से रेलवे स्टेशनों के विकास एवं पुनर्विकास की एवज में अब टिकट पर चार्ज वसूला जाएगा। यह शुल्क स्टेशन डेवलपमेंट फीस होगी, जोकि यात्रियों से उनकी यात्रा श्रेणी के हिसाब से अलग-अलग वसूली जाएगी। मोटे तौर पर अब अलग-अलग तरह की कैटेगरी के लिए रेल का सफर 10 से 50 रुपये अतिरिक्त महंगा होगा।
        इस शुल्क को लगाने के लिए रेलवे ने कई तरह के नियम भी तय किए हैं. इस बाबत रेलवे बोर्ड के निदेशक (यात्री विपणन) विपुल सिंघल ने एक आधिकारिक पत्र सभी जोनों के लिए जारी किया है।

   एयरपोर्ट की तर्ज पर बनकर तैयार हो रहे नए रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों से यूजर चार्ज लिया जाएगा। यह चार्ज 10 से 50 रुपये के बीच होगा। आपको बता दें रेलवे देशभर में 400 रेलवे स्टेशन विश्व स्तरीय सुविधाओं से युक्त बनाने पर काम कर रहा है। इसमें अधिकतर रेलवे स्टेशन पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप पर हैं। गांधी नगर और भोपाल का रानी कमलावती रेलवे स्टेशन पहले ही बनकर तैयार हो चुके हैं। पीएम मोदी ने इनका उद्घाटन भी कर दिया है।
           बता दें कि रेलवे बोर्ड की तरफ से यात्रियों पर यूजर चार्ज लगाने की मंजूरी दे दी गई है। अलग-अलग क्लास में सफर करने वाले लोगों पर चार्ज भी अलग होगा और ये टिकट में ही शामिल किया जाएगा। रेल मंत्रालय के एक आदेश के मुताबिक 10 रुपये से लेकर अधिकतम 50 रुपए तक यूजर चार्ज होगा।
        अनारक्षित टिकट पर यात्रा करने वालों के लिए यह फीस 10 रुपये होगी। वहीं स्लीपर में सफर करने वालों को 25 रुपये तो एसी में यात्रा करने वालों से 50 रुपये का अतिरिक्त यूजर चार्ज लिया जाएगा। अभी इस तरह का शुल्क देश में एयरपोर्ट पर ही लिया जाता है। हालांकि रेल मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक यह सर्विस चार्ज कब से लागू किया जाएगा, अभी इसका फैसला नहीं किया गया है।

    प्लेटफॉर्म टिकट खरीदने वालों को भी सर्विस चार्ज के रूप में 10 रुपये चुकाने होंगे। एयरपोर्ट की तरह विकसित कएि गए स्टेशन पर उतरने वालों यात्रियों से तय कीमत की 50 फीसदी राशि ली जाएगी।