home page

बीजेपी की प्रियंका टिबरीवाल देंगी ममता को चुनौती

 | 
बीजेपी की प्रियंका टिबरीवाल देंगी ममता को चुनौती

             नईदिल्ली। पश्चिम बंगाल विधानसभा उपचुनावों में बीजेपी की प्रियंका टिबरीवाल भवानीपुर विधानसभा सीट से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी.पार्टी ने समसेरगंज सीट से मिलन घोष और जंगीपुर सीट से सुजीत दास को उम्मीदवार बनाया है.
              प्रियंका टिबरेवाल चुनाव बाद हिंसा के मामले में लगातार अदालत में ममता सरकार को घेरती रही हैं. वह बीजेपी नेता बाबुल सुप्रियो की कानूनी सलाहकार रह चुकी हैं. सुप्रियो के सलाह के बाद ही वह अगस्त 2014 में बीजेपी में शामिल हुई थीं.
Read More- सपा बसपा कांग्रेस तथा बीजेपी सरकार पर जमकर बरसे AIMIM प्रमुख   

                साल 2015 में, उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार के रूप में वार्ड संख्या 58 (एंटली) से कोलकाता नगर परिषद का चुनाव लड़ा, लेकिन तृणमूल कांग्रेस के स्वपन समदार से हार गई थीं. बीजेपी में अपने छह साल के कार्यकाल के दौरान, उन्होंने कई महत्वपूर्ण कार्यों को संभाला और अगस्त 2020 में, उन्हें पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता युवा मोर्चा का उपाध्यक्ष बनाया गया. इस साल उन्होंने इंटाली से विधानसभा चुनाव लड़ा, लेकिन टीएमसी के स्वर्ण कमल साहा से 58,257 मतों के अंतर से हार गईं.
                प्रियंका टिबरेवाल का जन्म सात जुलाई 1981 को कोलकाता में हुआ था. उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा वेलैंड गॉल्डस्मिथ स्कूल से पूरी की और दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि प्राप्त की. उसके बाद, उन्होंने 2007 में कलकत्ता विश्वविद्यालय के अधीनस्थ हाजरा लॉ कॉलेज से कानून की डिग्री हासिल कीं. उन्होंने थाईलैंड अनुमान विश्वविद्यालय से एमबीए भी किया है.प्रियंका टिबरेवाल ने कहा कि 'पार्टी ने मुझसे सलाह ली है और मेरी राय पूछी है कि मैं भवानीपुर से चुनाव लडऩा चाहती हूं या नहीं. कई नाम हैं और मुझे अभी पता नहीं है कि उम्मीदवार कौन होगा. इतने सालों में मेरा साथ देने के लिए मैं अपने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को धन्यवाद देना चाहती हूं. उन्होंने कहा कि अगर मेरी पार्टी ने मुझे ममता बनर्जी के खिलाफ भवानीपुर से मैदान में उतारा, तो मैं अपना सर्वश्रेष्ठ दूंगा और मुझे उम्मीद है कि लोग न्याय बनाम अन्याय की इस लड़ाई में मेरा समर्थन करेंगे. मुझे यकीन है कि लोग सत्तारूढ़ टीएमसी के कुशासन के खिलाफ मतदान करेंगे. यह चुनाव के बाद की हिंसा और बंगाल में लोगों की पीड़ा के खिलाफ हमारी लड़ाई है.
Read more- किसानों की एकता और आंदोलन की सफलता से भाजपा सरकार बौखलाई : अखिलेश             

वहीं ममता बनर्जी आज भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव के लिए अपना नामांकन दाखिल करेंगी. बता दें कि शोभनदेब चट्टोपाध्याय ने ममता बनर्जी के लिए भवानीपुर सीट को खाली कर दिया था, क्योंकि ममता बनर्जी नंदीग्राम में बीजेपी उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी से हार गईं थीं. च्च् तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो नेउपचुनाव के लिए अपना अभियान शुरू किया और विधानसभा उपचुनाव की तारीखों की घोषणा होते ही बीजेपी पर अपनी पार्टी के नेताओं को निशाना बनाने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया.
             पिछले हफ्ते चुनाव आयोग ने 30 सितंबर को पश्चिम बंगाल की तीन विधानसभा सीटों-भवानीपुर, जंगीपुर और समसेरगंज में उपचुनाव कराने की घोषणा की. टीएमसी ने 294 सदस्यीय पश्चिम बंगाल विधानसभा में 213 सीटों पर जीत हासिल करते हुए भारी जीत दर्ज की. बीजेपी चुनाव हार गई लेकिन 77 सीटों के साथ दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी, हालांकि चुनाव के बाद से लगातार बीजेपी में भगदड़ जारी है. बीजेपी ने उपचुनाव में समसेरगंज सीट से मिलन घोष और जंगीपुर सीट से सुजीत दास को उम्मीदवार बनाया है.