home page
up abtk

नक्सलियों ने सेना के काफिले पर घात लगाकर किया हमला, कर्नल समेत 5 जवान शहीद

 | 
नक्सलियों ने सेना के काफिले पर घात लगाकर किया हमला, कर्नल समेत 5 जवान शहीद

इंफाल। मणिपुर के चुराचांदपुर जिले में आज नक्सलियों ने सेना के काफिले पर घात लगाकर हमला किया, जिसमें असम राइफल्स यूनिट के कर्नल सहित पांच जवान शहीद हो गए। इस हमले में कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी के परिवार के दो सदस्यों की भी मौत हो गई। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, घटना सेहकेन गांव के पास सुबह करीब 11 बजे हुई, जब भारी हथियारों से लैस संदिग्ध पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के नक्सलियों ने असम राइफल्स के कर्नल विप्लव त्रिपाठी के काफिले पर गोलीबारी की, जिसमें वह शहीद हो गए। हमले में उनकी उनकी पत्नी और उनके 9 वर्षीय पुत्र की भी मौत हो गई। घटना के बाद तीन क्विक रिएक्शन टीम (क्यूआरटी) के जवान मौके पर पहुंचे। 
     हालांकि अभी तक किसी भी चरमपंथी या नक्सली संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन पुलिस और खुफिया अधिकारियों को इस जघन्य कृत्य के पीछे पीएलए कैडरों का हाथ होने का संदेह व्यक्त कर रहे है। 
सेना, असम राइफल्स और पुलिस बलों ने वरिष्ठ पुलिस और अर्धसैनिक अधिकारियों के नेतृत्व में चरमपंथियों को पकडऩे के लिए इलाके में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू किया है।  रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह, पश्चिम बंगाल की उनकी समकक्ष ममता बनर्जी, असम राइफल्स के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल पी. सी. नायर और कई अन्य लोगों ने हमले की कड़ी निंदा की है। 
     केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, मणिपुर के चुराचंदपुर में असम राइफल्स के काफिले पर कायराना हमला बेहद दर्दनाक और निंदनीय है। देश ने सीओ 46 एआर और उनके परिवार के दो सदस्यों सहित 5 बहादुर सैनिकों को खो दिया है। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदना। अपराधियों को न्याय के कटघरे में लाया जाएगा।
      छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मणिपुर राज्य के चुराचन्दपुर जिले के ग्राम सियालसी के समीप हुए माओवादी हमले की निंदा की है। इस माओवादी हमले में दैनिक बयार रायगढ़ के सम्पादक एवं वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी के पुत्र कर्नल विप्लव त्रिपाठी, बहू श्रीमती अनुजा त्रिपाठी एवं पांच वर्षीय पौत्र अबीर त्रिपाठी शहीद हो गए। यह घटना आज पूर्वान्ह 11.30 बजे उस वक्त घटित हुई, जब कर्नल विप्लव त्रिपाठी, बिहांग काय-पोस्ट का विजिट कर वापस लौट रहे थे। सियालसी गांव के पास एम्बुस लगाए माओवादियों ने हमला कर दिया, जिसमें कर्नल त्रिपाठी और उनके परिवार के लोग शहीद हो गए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने माओवादी हमले को कायराना कृत्य करार देते हुए इसकी कड़े शब्दों में भर्त्सना की है। उन्होंने कर्नल विप्लव त्रिपाठी की शहादत को नमन करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है।