home page

अधिवक्ता हत्याकांड का मामलाः प्रेम प्रसंग मे बाधा बनने पर प्रेमी व उसके एक साथी संग मिलकर पत्नी ने करायी थी अधिवक्ता की हत्या

बाराबंकी- DVNA। चर्चित अधिवक्ता हत्याकांड का बुधवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया। अधिवक्ता की...
 | 
अधिवक्ता हत्याकांड का मामलाः प्रेम प्रसंग मे बाधा बनने पर प्रेमी व उसके एक साथी संग मिलकर पत्नी ने करायी थी अधिवक्ता की हत्या

बाराबंकी- DVNA। चर्चित अधिवक्ता हत्याकांड का बुधवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया। अधिवक्ता की हत्या उसकी अपनी ही पत्नी ने प्रेम प्रसंग में बाधा बनने पर प्रेमी व उसके एक साथी के साथ मिलकर की थी ।पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर जेल रवाना कर दिया है जिसके बाद से पुलिस ने राहत की सांस ली है । मालूम हो कि गत चार सितंबर की रात अधिवक्ता कुलदीप रावत की उस समय गला रेत कर हत्या कर दी गई थी जब वह कचहरी बंद होने पर मोटरसाइकिल से अपने घर जा रहा था । सुबह रक्त रंजित अवस्था में शव मिलने पर इलाके मे सनसनी फैल गयी थी ।
मृतक अधिवक्ता के भाई ने पुलिस को सूचना दी थी जिसके घटना से अधिवक्ताओं में भी आक्रोश फैल गया था । दबाव के बाद पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू की थी तथा जल्द खुलासा करने के लिए एसपी यमुना प्रसाद ने पुलिस की तीन टीमें गठित कर निर्देश दिये थे । बुधवार को गठित संयुक्त टीम कोतवाली सर्विलांस एवं स्वाट पुलिस ने हत्या में शामिल मृतक अधिवक्ता की पत्नी रीता उर्फ लक्ष्मी प्रेमी मंटू वर्मा निवासी लक्ष्क्षी का पुरवा थाना मसौली तथा उसका एक साथी पंकज यादव निवासी शुक्लाई को गिरफ्तार कर लिया ।
एसपी ने धटना का अनावरण करते हुए बताया कि पकङे गये लोगो की निशान देही पर आला कत्ल भी बरामद कर लिया गया है । अभियुक्तो ने घटना कारित करने की बात स्वीकार की है साथ ही बताया कि पूछताछ मे पता चला कि मृतक अधिवक्ता की पत्नी आजाद नगर में ब्यूटी पार्लर चलाती थी इस दौरान उसका अवैध संबंध टेंट व्यवसायी मंटू वर्मा से हो गया जिसकी जानकारी पति अधिवक्ता को पत्नी ने दी थी बावजूद इसके वह तलाक नही दे रहा था । जिसको लेकर पति-पत्नी में आए दिन विवाद भी होता रहता था । इसी के चलते पत्नी रीता ने प्रेमी संग मिलकर उसे रास्ते से हटाने की योजना बनाई थी जिसमे मंटू ने अपने साथी शुक्लाई निवासी पंकज यादव को भी शामिल किया था जो मोबाइल शॉप चलाता था ।
एसपी ने बताया कि घटना वाले दिन मृतक जब पत्नी को लेने उसके पार्लर गया था तभी प्रेमी के साथी ने योजना मुताविक जमीन दिखाने का लालच देकर अपने पास बुलाया था फिर दोनो घटना स्थल पहुचे थे जहा पहले से मौजूद प्रेमी ने गला रेत कर उसकी हत्या कर दी और शव छोङकर दोनो फरार हो गये थे । इसके बाद प्रेमिका को भी फोन कर काम होने की सूचना दी थी । उन्होने बताया कि तीनो के विरुद्ध हत्या व सादिस का मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है ।
खुलासा करने वाली टीम मे प्रभारी निरीक्षक नगर कोतवाली अमर सिंह ,निरीक्षक अक्षय कुमार प्रभारी सर्विलांस, उप निरीक्षक अजय कुमार सिंह स्वाट टीम एंव दरोगा व सिपाही शामिल रहे ।