home page
up abtk

कंगना रनौत के बयान का बसपा सांसद ने किया समर्थन, बोले- महिलाओं को भी संविधान बनने के बाद मिली आजादी

मुरादाबाद। हमेशा अपने बयानों से चर्चाओं में रहने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना राणावत एक बार...
 | 

मुरादाबाद। हमेशा अपने बयानों से चर्चाओं में रहने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना राणावत एक बार फिर चर्चाओं में है और यह चर्चा केंद्र सरकार द्वारा दी गई पदम श्री की उपाधि नहीं बल्कि इस दौरान एक टीवी चैनल को दिए गए इस बयान के कारण है जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत को असली आजादी 2014 में मिली है, 1947 में जो स्वतंत्रता देश को मिली थी वह भीख में मिली थी।

इस बयान के बाद बॉलीवुड अभिनेत्री चौतरफा आलोचनाओं का शिकार हो रही है। मुरादाबाद में उत्तर प्रदेश कांग्रेस के महासचिव सचिन चौधरी और दी बार एसोसिएशन एंड लाइब्रेरी के संयुक्त सचिव त्रिलोकचंद दिवाकर भी पुलिस को रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर दे चुके हैं। देश के कई अन्य भागों में भी बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना राणावत का पुतला फूंका गया है और पुलिस को तहरीर दी गई है।

इस सब के बावजूद, शनिवार को बिजनौर जनपद के नगीना लोकसभा क्षेत्र से बसपा सांसद गिरीश चंद बॉलीवुड अभिनेत्री के साथ खड़े नजर आए। उन्होंने कंगना राणावत के बयान को निजी करार दिया। कहा कि यह उनका निजी बयान है । आजादी तो 1947 में ही मिली लेकिन महिलाओं को ही ले लीजिए उन्हें आजादी डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जी के संविधान बनने के बाद मिली है।

DVNA