home page

प्रेमिका के फ्लैट में पेट्रोल डालकर फूंक दिया पत्नी को, जाने फिर क्या हुआ

शव ठिकाने लगाने में उसकी प्रेमिका,प्रेमिका के पिता और चचेरे भाई ने साथ दिया
 | 
प्रेमिका के फ्लैट में पेट्रोल डालकर फूंक दिया पत्नी को, जाने फिर क्या हुआ

कानपुर । क्रॉकरी कारोबारी ने कौशलपुरी के फ्लैट में पत्नी का दुपट्टे से गला घोंटा और रायपुरवा स्थित प्रेमिका के फ्लैट में पेट्रोल डालकर फूंक दिया। अधजली लाश कार से ले जाकर पांडुनदी में फेंक दिया। शव ठिकाने लगाने में उसकी प्रेमिका,प्रेमिका के पिता और चचेरे भाई ने साथ दिया। पुलिस पूछताछ में पति ने पूरी कहानी बयां कर दी। उसने पुलिस को बताया है कि शव पनकी नहर नहीं,पांडु नदी में फेंका था। मंगलवार को पुलिस ने चारों आरोपियों को जेल भेज दिया। 
       कौशलपुरी निवासी क्रॉकरी कारोबारी सुलभ मल्होत्रा की पत्नी अंजना मल्होत्रा 22 दिसंबर की रात से लापता थीं। सात जनवरी को पनकी नहर में एक महिला का शव मिला था। पहचान नहीं होने के कारण पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया गया। 8 जनवरी को अंजना की बहन बबली ने पोस्टमार्टम हाउस में दावा किया कि शव उनकी बहन का है। पति सुलभ उर्फ मोंटू ने हत्या करके शव फेंक दिया है। नजीराबाद पुलिस ने हत्या की एफआईआर दर्ज कर आरोपित पति को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा हुआ।
 

    डीसीपी साउथ रवीना त्यागी ने बताया कि सुलभ ने स्वीकार किया है कि पत्नी की कौशलपुरी स्थित घर में हत्या की थी। इसके बाद प्रेमिका किरन को फोन कर बुलाया और उसकी मदद से शव कार में रखकर रायपुरवा क्षेत्र के भन्नापुरवा स्थित प्रेमिका किरन के फ्लैट ले गए। यहां चचेरे भाई ऋषभ को बुलाया। किरन के पिता रामदयाल भी वहीं थे। सबने मिलकर ठिकाने लगाने के लिए शव को पेट्रोल डालकर जलाया। धुंआ अधिक होने पर आग बुझा दी और बोरे में भरकर अगले दिन फतेहपुर जनपद के औंग थाना क्षेत्र में पांडु नदी के पुल से नीचे फेंक दिया। मंगलवार को पुलिस ने अंजना का पति सुलभ,प्रेमिका किरन,उसके पिता रामदयाल व चचेरे भाई ऋषभ को जेल भेज दिया।