home page
up abtk

किसानों के नरसंहार पर राकेश टिकैत सख्त, आरोपियों की गिरफ्तारी पर ही बनेगी बात

 | 
किसानों के नरसंहार पर राकेश टिकैत सख्त, आरोपियों की गिरफ्तारी पर ही बनेगी बात

     लखीमपुर खीरी। खीरी जनपद के तिकुनिया इलाके में हुए किसानों के नरसंहार पर भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने केंद्र व प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। राकेश टिकैत ने सरकार को साफ चेतावनी देते हुए कहा कि तिकुनिया कांड के मामले में आंदोलन खत्म नहीं हुआ है, मृतक किसानों की पगडी रस्म के पाठ की समाप्ति तक समझौते के तहत अगर सरकार ने आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही नहीं की तथा केंद्रीय गृह राज्यमंत्री को पद से नहीं हटाया तो किसान फिर से आंदोलन करेंगे, जिसकी पूरी जिम्मेदारी सरकार की होगी। 
       जानकारी के अनुसार खीरी जनपद तिकुनिया कांड को लेकर यूपी समेत पूरे देश में आक्रोश फैल गया है। तिकुनिया कांड के पीडितों को ढांढस बंधाने के लिए कई राजनेताओं लखीमपुर खीरी पहुचने के काफी प्रयास किये, लेकिन सरकार के इशारे पर पुलिस ने उन्हें लखीमपुर खीरी पहुचने से पहले ही हिरासत में ले लिया। लेकिन भाकियू के प्रवक्ता राकेश टिकैत लखीमपुर खीरी में पहुचने मे सफल रहे। घटना वाले दिन से ही राकेश टिकैत लगातार लखीमपुर खीरी मे डटे हुए हैं। इसी सिलसिले में राकेश टिकैत करीब दो बजे लखीमपुर खीरी के श्री सिंह सभा गुरुद्वारा पहुंचे। जहां गुरुद्वारे में मत्था टेकने के बाद राकेश टिकैत ने प्रेसवार्ता की। 
     प्रेसवार्ता में राकेश टिकैत ने पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि तिकुनिया कांड में शहीद हुए किसानों को इंसाफ दिलाने के लिए संयुक्त किसान मोर्चा लगातार प्रयास कर रहा है। इस कांड के मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी के सरकार को मृतक किसानों की पगड़ी रस्म के पाठ की समाप्ति तक की मोहलत दी गई है, अगर सरकार ने निर्धारित समय तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया तो किसान फिर से आंदोलन करने के लिए मजबूर होंगे।