home page

प्रेमी प्रेमिका मना रहे थे रंगरेलियां, युवक ने बना डाली वीडियो, फिर प्रेमी ने..

वीडीओ बना रहे ब्यक्ति के घर पहुँचकर उसके ऊपर ताबड़तोड़ चाकुओं से हमला कर दिया
 | 
प्रेमी प्रेमिका मना रहे थे रंगरेलियां, युवक ने बना डाली वीडियो, फिर प्रेमी ने..

रायबरेली ।  सलोन कोतवाली क्षेत्र के बड़ा पुरवा मजरे रोहनिया गांव  में  प्रेमी प्रेमिका की रंगरेलियां मनाते मोबाइल से वीडियो बनाना एक युवक को महंगा पड़ गया। आरोपी प्रेमी ने अपने आधा दर्जन साथियों के साथ वीडीओ बना रहे ब्यक्ति के घर पहुँचकर उसके ऊपर ताबड़तोड़ चाकुओं से हमला कर दिया। जिससे वह गम्भीर रूप से घायल हो गया। 
    घटना को अंजाम देने वाले आरोपी  को कोतवाली पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त चाकू के साथ गिरफ्तार कर लिया है। जबकि घायल युवक को सीएचसी सलोन से जिला अस्पताल रिफर किया गया है। 
      कोतवाली क्षेत्र के ग्राम सभा रोहनिया के बड़ा पुरवा निवासी दीपक पटेल मुकेश पटेल पुत्रगण शीतल दीन गुरुवार  को अपने खेत मे खाद डाल रहे थे। इस बीच समसपुर खालसा गांव के रहने वाले अरुण कुमार पुत्र राम नरेश अपनी प्रेमिका ममता के साथ खेत मे रंगरेलियां मनाने के लिए वहा गया था। जिसका विरोध गांव के विकास पटेल ने किया।
 

   आरोप है कि विकास को प्रेमी युगल मारने के लिए दौड़ा लिया। इस मामले की पूरी जानकारी विकास ने दीपक को आकर बताई।दीपक द्वारा जब दोनों को मना करने के लिए खेत के पास  पहुँचा तो दोनों प्रेमी युगल को यह बात नगवारा लगी। जिसके बाद दीपक ने दोनों का वीडियो बना  लिया। इसी बात से खुन्नस खाये प्रेमी युवक ने दीपक के साथ बहस बाजी शुरू कर दी।खेत मे मौजूद लोगों के बीच बचाव के बाद मामला शांत हो गया।लेकिन थोड़ी देर बाद प्रेमी अरुण कुमार अपने अज्ञात कई साथियों के साथ दीपक के घर पहुँच गया और उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। आरोपी अरुण कुमार ने जेब से चाकू निकाल कर दीपक के ऊपर ताबड़तोड़ कई वार कर दिए। जिससे वो गम्भीर रूप से घायल होकर जमीन पर गिर गया। ।घायल युवक को उसकी पत्नी और भाभी ने सीएचसी  में इलाज के लिए ले गए ।
    डाक्टर आशीष नायक ने बताया कि युवक की हालत बेहद गम्भीर होने के कारण।उसे जिला अस्पताल रिफर किया गया है।कोतवाली प्रभारी संजय त्यागी ने बताया कि आरोपी युवक अरुण कुमार को घटना में प्रयुक्त चाकू के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी के विरुद्ध घायल युवक के पिता शीतलदीन की तहरीर पर 323,504,506,307 के तहत जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज किया गया है।