April 21, 2024
रमज़ान का तीसरा जुमा में अल्लाह की इबादत कर मांगी दुआ

गोरखपुरमाह-ए-रमज़ान के तीसरे जुमा की नमाज पढ़ने के लिए मस्जिदों में काफी भीड़ उमड़ी। सभी ने मस्जिदों में जुमे की नमाज अदा की। क्या बड़े और क्या छोटे सभी अल्लाह की इबादत में पलके बिछाए दिखे और 15वां रोजा रखकर अपनी आस्था प्रदर्शित की। रोजेदार रोजा रख कर अल्लाह की दी हुई नेमत का शुक्रिया अदा करने में जुटे रहे।
माह-ए-रमज़ान के तीसरे जुमे की नमाज छोटी-बड़ी सभी मस्जिदों में कौमो मिल्लत, मुल्क में अमनो सलामती की दुआ के साथ अदा की गई। घरों में महिलाओं ने इबादत की।

मरकजी मदीना जामा मस्जिद रेती चौक में मुफ्ती मेराज अहमद कादरी ने रमज़ान, जकात, फित्रा, शबे कद्र, एतिकाफ के फजाइल बयान किए। कहा कि अल्लाह ने रमज़ान में इंसानों की रहनुमाई के लिए कुरआन-ए-पाक नाजिल किया। इस माह में सदका व खैरात का बड़ा महत्व है। जकात, सदका-ए-फित्र गरीब तबके के कल्याण और सेवा के लिए किया जाता है। लिहाजा जल्द से जल्द जकात, सदका-ए-फित्र अदा कर अपने कर्तव्यों का पालन करें।
चिश्तिया मस्जिद बक्शीपुर में मौलाना महमूद रज़ा कादरी ने कहा कि मगफिरत के अशरे में चंद दिन बचे हुए है। इसके बाद जहन्नम से आजादी का अशरा शुरु होगा। जिसके शुरु होते ही मस्जिदों में दस दिनों का एतिकाफ भी शुरु हो जाएगा। अंतिम अशरे की ताक रात (21, 23, 25, 27 व 29) में शबे कद्र को पाने के लिए बंदे पूरी रात इबादत करेंगे।

सुन्नी बहादुरिया जामा मस्जिद रहमतनगर में मौलाना अली अहमद, दरगाह हजरत मुबारक खां शहीद मस्जिद नार्मल में मुफ्ती मुनव्वर रजा, गौसिया जामा मस्जिद मस्जिद छोटे काजीपुर में मौलाना मोहम्मद अहमद निजामी, नूरी मस्जिद तुर्कमानपुर में मौलाना मो. असलम रज़वी, मस्जिद सुब्हानिया तकिया कवलदह में मौलाना जहांगीर अहमद अजीजी, सब्जपोश हाउस मस्जिद में हाफिज रहमत अली निजामी आदि ने जुमा की नमाज पढ़ाई। इसके अलावा शहर की सभी मस्जिदों के इमाम ने जुमा का खुतबा दिया व नमाज पढ़ाई। तकरीरों में रमज़ान के फजाइल बयान किए गए। पैग़ंबरे इस्लाम हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम व अहले बैत पर सलातो-सलाम का नजराना पेश किया गया। शाम को सबने मिलकर इफ्तार किया। बाजार में ईद की खरीदारी जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!