April 21, 2024
Gorakhpur-सेण्ट ऐण्ड्रयूज काॅलेज में दो दिवसीय किशोर स्वास्थ्य अभिविन्यास कार्यशाला का हुआ उद्घाटन

गोरखपुर। सेण्ट ऐण्ड्रयूज काॅलेज गोरखपुर Gorakhpur के स्थापना के 125वें वर्ष मे प्रवेश के कार्यक्रमों के क्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा दिनांक 01 मार्च, 2024 से 02 मार्च, 2024 तक आयोजित एवं सिफ्सा वित्तपोषित दो दिवसीय किशोर स्वास्थ्य अभिविन्यास कार्यशाला का उद्घाटन आज वाणिज्य विभाग में किया गया।

Gorakhpur-सेण्ट ऐण्ड्रयूज काॅलेज में दो दिवसीय किशोर स्वास्थ्य अभिविन्यास कार्यशाला का हुआ उद्घाटन

उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि के रुप में पधारे काॅलेज के प्राचार्य प्रोफेसर सी0ओ0 सैमुएल ने कहा कि किशोरावस्था में किशोरों तथा किशोरियों के मन में आ रहे विचारों, जिज्ञासाओं, शारीरिक तथा मानसिक परिवर्तनों और उनकी क्रियात्मक ऊर्जा को सही दिशा प्रदान करने के लिए पारिवारिक जीवन शिक्षा आवश्यक है।

Gorakhpur-सेण्ट ऐण्ड्रयूज काॅलेज में दो दिवसीय किशोर स्वास्थ्य अभिविन्यास कार्यशाला का हुआ उद्घाटन

उन्होने छात्राओं की तरफ इंगित करते हुए कहा कि आप ही परिवार का स्तंभ है और आप का स्वास्थ्य बहुत ही महत्वपूर्ण है। जिम्मेदार माता-पिता बनना और अभिभावक की भूमिका का निर्वहन करना, किशोरावस्था में होने वाले परिवर्तनों के कारण परिवार में अपनी बात सहज ढंग से कहना आदि मुद्दे आपके आने वाले भविष्य में बहुत उपयोगी होंगे।

आयोजन सचिव के रूप में सिफ्सा के नोडल अधिकारी एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी डॉ0 जे0के0 पांडेय ने कार्यशाला की रूप-रेखा प्रस्तुत करते हुए कहा कि जीवन के प्रति सही दृष्टिकोण विकसित करने के लिए छात्र छात्राओं को प्रशिक्षित करने हेतु यह कार्यशाला आयोजित की गई है। इसके माध्यम से किशोरावस्था में होने वाले परिवर्तनों से लेकर परिवार नियोजन तक की सही जानकारी दी जाएगी ताकि उनमें गलत व सही के बीच में अंतर पहचान कर सही निर्णय लेने की क्षमता विकसित हो सकें। कार्यक्रम का संचालन डाॅ0 जे0के0 पाण्डेय ने तथा धन्यवाद ज्ञापन डाॅ0 (श्रीमती) सुनीता पाॅटर ने किया।

तकनीकी सत्र में मुख्य ट्रेनर के रूप में भूतपूर्व कार्यक्रम अधिकारी डॉ0 (श्रीमती) सुनीता पाटर ने उत्तर प्रदेश में युवाओं की स्थिति, समाज में लड़के-लड़की के प्रति भेद-भाव, नशीले पदार्थों से होने वाले नुकसान तथा पोषण विषय पर किशोरियों को जागरूक किया। ट्रेनर तथा भूतपूर्व कार्यक्रम अधिकारी डॉ0 पूजा आनन्द ने स्वेच्छा से माता-पिता बनना, न कि संयोग से, प्रजनन अंगों के संक्रमण आदि विषयों पर अपने विचार रखें। डॉ0 जे0 के0 पांडेय ने एनीमिया तथा कानूनी अधिकारों आदि विषयों पर प्रकाश डाला।

इस अवसर पर वाणिज्य विभाग के अध्यक्ष डाॅ0 के0डी0 पाण्डेय, डाॅ0 जे0पी0 यादव, सुश्री साक्षी मिश्रा, पियर एजुकेटर प्रांजल गौतम, आदित्य कुमार पाण्डेय, यशी श्रीवास्तव सहित वाणिज्य विभाग की कुल 60 छात्राओं ने प्रतिभागिता की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!