April 18, 2024
iPhone15 Series: ऐपल का आईफोन 15 भारत सहित कई और देशों में हुआ पेश

iPhone15 Series Sale: ऐपल का आईफोन15 शुक्रवार को भारत सहित कई और देशों में पेश हुआ और इसके शुरुआती उत्साह से भरे रुझान और बुकिंग को देखते हुए ऐपल इंक के प्रमुख बड़े अधिकृत खुदरा विक्रेताओं ने इसे ‘ब्लॉकबस्टर’ के तमगे से नवाजा है। इनका कहना है कि भारत में ही आईफोन15 की बिक्री, आईफोन14 के मुकाबले करीब 40-50 फीसदी अधिक रहने की संभावना है। पिछले साल आईफोन14 को इतनी उत्साहजनक प्रतिक्रिया नहीं मिली थी।

iPhone15 Series: ऐपल का आईफोन 15 भारत सहित कई और देशों में हुआ पेश

आईफोन15 और आईफोन15 प्लस को लॉन्च के पहले ही दिन से फॉक्सकॉन के चेन्नई के संयंत्र में असेंबल किया जा रहा है। देश में ऐसा पहली बार हो रहा है।
ज्यादातर रिटेलर का कहना है कि आईफोन15 की भारी बिक्री हो सकती है क्योंकि भारत में बने फोन के लिए काफी इंवेंट्री है। हालांकि उनका यह भी कहना है कि प्रीमियम आईफोन प्रो और मैक्स मॉडल बिक चुके हैं खासतौर पर जिनमें टाइटेनियम फिनिशिंग हैं। इन मॉडल को आयात किया जाता है और इनकी पहले ही बुकिंग की गई थी। कुछ हफ्ते के अंदर ही ताजा स्टॉक भी आने की उम्मीद है।

बाजार शोध से जुड़ी कंपनी काउंटरप्वॉइंट ने अपने आंकड़े विशेषतौर पर समाचार एजेंसी रॉयटर्स के साथ साझा किए जिसके मुताबिक, जुलाई से दिसंबर तक देश के स्मार्टफोन की कुल बिक्री में ऐपल की हिस्सेदारी 7 फीसदी तक रहने का अनुमान है, जो 2023 की पहली छमाही के 5 फीसदी से ज्यादा है।
क्यूपर्टिनो की कंपनी ने 3,000 से अधिक खुदरा विक्रेताओं, कंपनी के स्वामित्व वाले दो स्टोर और अपने ऑनलाइन स्टोर के नेटवर्क पर ज्यादा जोर दिया है जिन्हें इन्वेंट्री का बड़ा हिस्सा मिला है। ऐपल की रणनीति की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया कि कंपनी का यह रुख कई प्रतिस्पर्धी मोबाइल कंपनियों की रणनीति के एकदम उलट है जो बड़े पैमाने पर बिक्री के लिए प्रमुख ई-कॉमर्स मंच की बड़ी इन्वेंट्री और छूट पर निर्भर रहती हैं।

खुदरा विक्रेताओं का कहना है कि ऐपल ने अदला-बदली वाली रणनीति के माध्यम से फोन को अधिक किफायती बना दिया है। सबसे अधिक एक्सचेंज किए जाने वाले फोन आईफोन 10 और 11 हैं, जो 5जी फोन नहीं हैं। औसतन यह एक्सचेंज ऑफर लगभग 20,000 रुपये का है जिसमें अतिरिक्त एक्सचेंज बोनस के साथ-साथ तुरंत नकदी की पेशकश भी की जाती है।

ऐपल के एक प्रमुख अधिकृत रिटेल चेन के एक वरिष्ठ कार्यकारी ने टिप्पणी की, ‘जब आप इन सभी पेशकश को जोड़ते हैं तब आईफोन15, अपनी 79,900 रुपये की मूल कीमत से घटकर करीब 48,900 रुपये हो जाता है। वहीं 89, 900 रुपये की कीमत वाला आईफोन15 प्लस 58,400 रुपये में उपलब्ध हो जाता है। इसकी वजह से भी लोगों का इन मॉडल के लिए आकर्षण बढ़ा है।’ इसके अलावा, बैंक और वित्त कंपनियां भी 24 महीने के लिए आकर्षक मासिक किस्त (ईएमआई) की पेशकश कर रही हैं जिसके तहत कोई एकमुश्त रकम देने की आवश्यकता नहीं होती है और आईफोन 15 के लिए महज 3,329 रुपये का मासिक भुगतान करना होता है।

अधिकांश खुदरा विक्रेताओं को उम्मीद है कि ऐतिहासिक रुझानों के आधार पर, आईफोन15 के लॉन्च से आईफोन13 की बिक्री को बढ़ावा मिलेगा जो शुरुआती स्तर का सबसे सस्ता ऐपल फोन है। पहली बार आईफोन खरीदने वालों में आईफोन13 के लिए आकर्षण होता है।
विश्लेषकों का कहना है कि ऐतिहासिक वैश्विक रुझानों के आधार पर देखा जाए तो हर वैकल्पिक आईफोन मॉडल ब्लॉकबस्टर बन जाता है। उदाहरण के तौर पर आईफोन13 हिट रहा लेकिन आईफोन 14 की वैश्विक स्तर पर और भारत में बिक्री बेहद कम हुई। वहीं अब आईफोन15 रिकॉर्ड बना रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!