May 22, 2024
Odisha Train Accident ओडिशा ट्रेन हादसा, किसी का हाथ पड़ा था डिब्बे में तो, किसी का पैर, लोग बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे थे

बालासोर। ओडिशा में हुए ट्रेन हादसे की जो तस्वीरें सामने आई हैं वो ह्दयविदारक हैं। हर तरफ लाशें और खून से सना ट्रैक देखकर लोगों की आंखों में आंसू हैं वहीं अपनों की तलाश में लोग इधर उधर भटकते फिर रहे हैं। एक पैसेंजर ने बताया कि हम एस5 बोगी में थे और जिस समय हादसा हुआ उस उस समय मैं सोया हुआ था। तेज आवाज से मेरी नींद खुली। मैंने देखा कि ट्रेन पलट गई है। मेरी सीट ऊपर वाली थी, मैं वहां पंखा पकड़ कर बैठा रहा। ट्रेन में भगदड़ मच गई थी। लोग बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे थे। तभी पैंट्री कार में आग लग गई। हम दूसरी तरफ भागे, तो हमने देखा कि वहां मरे हुए लोग पड़े हैैं। तब तक कोई बाहरी व्यक्ति मदद के लिए नहीं आ पाया था।

Odisha Train Accident ओडिशा ट्रेन हादसा, किसी का हाथ पड़ा था डिब्बे में तो, किसी का पैर, लोग बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे थे

ट्रेन से बाहर निकलकर लोग ही एक-दूसरे की मदद कर रहे थे। अच्छी बात ये थी कि हमारी सीट के नीचे एक 2 साल का बच्चा था, जो बिल्कुल सुरक्षित था। हमने उसके परिवार को बचाने में मदद की। इस ट्रेन हादसे से सुरक्षित निकले एक शख्स ने कहा कि जब मैं ट्रेन से बाहर निकला, तो मैंने देखा कि चारों ओर शरीर के अंग बिखरे हुए हैं, एक पैर यहां, एक हाथ वहां, कहीं किसी का चेहरा पड़ा था। रिपन दास नाम के एक शख्स भी इस घटना में घायल हो गए. उनके भाई ने बताया कि जब उसने मुझे फोन किया, तो वो एम्बुलेंस में था. उसकी गर्दन, कमर और पैर में चोट हैं, सटीक संख्या मालूम नहीं लेकिन हमें पता चला है कि कई लोग घायल हुए हैं और कुछ लोगों की जान चली गई है।

Odisha Train Accident ओडिशा ट्रेन हादसा, किसी का हाथ पड़ा था डिब्बे में तो, किसी का पैर, लोग बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे थे

टक्कर इतनी भीषण थी कि खिड़कियों के कांच टूट गए और करीब 50 लोग बाहर जाकर गिरे। ओडिशा में बालासोर जिले में कल शाम हुई रेल दुर्घटना के कारण 58 से अधिक ट्रेनों को पूरी तरह से और 10 को आंशिक रूप से रद्द किया गया है जबकि 41 ट्रेनों का मार्ग बदला गया है।
दक्षिण पूर्व रेलवे की एक विज्ञप्ति के अनुसार खडगपुर भुवनेश्वर खंड पर चलने वाली 58 गाडिय़ों को निरस्त कर दिया गया है जबकि दस गाडिय़ों को आंशिक रूप से रद्द किया गया है। 41 गाडिय़ों को परिवर्तित मार्ग से चलाया जा रहा है जबकि एक गाड़ी को परिवर्तित समय पर चलाने का निर्णय लिया गया है।

ट्रेन सं. 12841 शालीमार-चेन्नई कोरोमंडल एक्सप्रेस और ट्रेन सं. 12864 सर एम विश्वेश्वरैया बेंगलुरु सिटी-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस दो जून को बहनागा बाजार रेलवे स्टेशन के पास लगभग 18.55 बजे पटरी से उतरने के कारण खडगपुर भुवनेश्वर खंड पर रेल यातायात पूरी तरह से अवरुद्ध हो गया है। रेलवे के इंजीनियर मार्ग को साफ करके यातायात बहाल करने के प्रयासों में जुटे हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!