June 22, 2024
समधी-समधन के प्रेम की अधूरी कहानी, एक न हो सके तो…, जाने क्या है पूरा मामला

लखीमपुर। कहते है प्यार की कोई उम्र नही होती, इसमें रिश्ते भी तार-तार हो जाते है, ऐसा ही मामला यहां भी सामने आया है, समधी और समधन में इस कदर प्यार हुआ कि एक नही हो सके तो ट्रेन से कट कर जान दे दी, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

समधी-समधन के बीच परवान चढ़ते प्रेम को जब जमाने ने मान्यता नहीं दी, तो रोज-रोज की टोका-टाकी से आहत होकर दोनों ने ट्रेन के आगे लेट कर जान दे दी। मामला इलाके भर में चर्चा का विषय बना हुआ है। पिहानी कोतवाली पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए हरदोई भेजा हैं।
मिली जानकारी के अनुसार थाना पसिगवां निवासी 40 वर्षीय रामनिवास पुत्र जदुनाथ जो प्राइवेट बस का चालक है, पंद्रह वर्ष पहले उसकी पत्नी का निधन हो गया था, एक पुत्री चांदनी थी, जिसका विवाह उसने दस माह पहले ही गांव मुबारकपुर निवासी शिवम पुत्र आशाराम के साथ किया था।

शादी के बाद से राम निवास का प्रेम संबंध अपनी समधन आशारानी पत्नी आशाराम के साथ हो गया। दोनों चोरी छुपे एक दूसरे मिलने लगे। परिजनों को भनक लगी, तो दोनों को टोका-टाकी करने लगे, इससे दोनों काफी आहत थे, दो-तीन दिन पहले ही घर से फरार हो गये और आज रविवार की भोर दोनों सीतापुर-शाहजहांपुर रेलवे लाइन पर एक साथ ट्रेन से कट कर जान दे दी।
सूचना पाकर जहानीखेड़ा चौकी इंचार्ज रमानंद मिश्रा फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!