July 9, 2024
China में इस गुमनाम बीमारी ने फैलाया आतंक, बच्चों से भरे हॉस्पिटल तो WHO ने मांगी रिपोर्ट

This unknown disease spread terror in China, hospitals were filled with children, WHO asked for report

COVID-19 महामारी के विनाशकारी प्रभाव से अभी भी जूझ रहा चीन (China) अब एक नए खतरे का सामना कर रहा है। कोविड महामारी (Covid-19) के शुरुआती दौर के भयावह दृश्यों की तरह इस नयी बीमारी से भी देश के हॉस्पिटल बुरी तरह भर रहे है। बता दें कि एक रहस्यमय निमोनिया के प्रकोप देश के शैक्षणिक संस्थानों में तेजी से फैल रहा है।
इस महीने की शुरुआत में चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने देश भर में सांस लेने संबंधी बीमारियों में हालिया वृद्धि को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी।

China में इस गुमनाम बीमारी ने फैलाया आतंक, बच्चों से भरे हॉस्पिटल तो WHO ने मांगी रिपोर्ट

चीन में सांस लेने संबंधी बीमारियों में वृद्धि
चीन में अधिकारियों ने सांस लेने से जुड़ी बीमारियों में वृद्धि को COVID​​​​-19 प्रतिबंधों में ढील के बाद इन्फ्लूएंजा, माइकोप्लाज्मा न्यूमोनिया जैसी बीमारियों से जोड़ा है। यह एक तरह का जीवाणु संक्रमण है जो आम तौर पर छोटे बच्चों को प्रभावित करता है और COVID-19 का कारण बनता है।
चीन के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के अनुसार, “माइकोप्लाज्मा निमोनिया बैक्टीरिया आमतौर पर सांस लेने की प्रणाली में हल्के इंफेक्शन का कारण बनता है और कभी-कभी यह फेफड़ों की गंभीर बीमारी बनता है जिसके इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होना जरूरी बन जाता है।

बता दें कि चीन इस समय लगातार पड़ रही ठंड का भी सामना कर रहा है। सरकारी मीडिया रिपोर्टों का अनुमान है कि शुक्रवार तक तापमान शून्य से काफी नीचे चला जाएगा।
बीजिंग सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के उप निदेशक और मुख्य महामारी विज्ञान विशेषज्ञ वांग क्वानी ने बुधवार को स्टेट मीडिया को बताया कि इस संक्रमण में वृद्धि शहर के हाल ही में ठंडे तापमान में गिरावट के साथ हुई है।

बीजिंग और लियाओनिंग के अस्पताल पूरी तरह से भरे
रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बीमार बच्चों की भारी वृद्धि के कारण बीजिंग और लियाओनिंग के अस्पताल पूरी तरह भर गए हैं। इस गुमनाम बीमारी के प्रकोप बढ़ने के साथ कई स्कूलों को बंद किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!