February 25, 2024
Narayani Gandaki Maha Aarti- 124 वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम का हुआ आयोजन

Narayani Gandaki Maha Aarti- 124th Narayani Gandaki Maha Aarti program organized

Narayani Gandaki Maha Aarti वाल्मीकिनगर-बिहार। भारत नेपाल सीमा पर अवस्थित बेलवा घाट परिसर में मार्गशीर्ष पूर्णिमा के पावन अवसर पर 124 वीं नारायणी गंडकी महा आरती कार्यक्रम का आयोजन किया गया। अंतर्राष्ट्रीय न्यास स्वरांजलि सेवा संस्थान द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि समाजसेवी होमलाल प्रसाद, संस्थान के एम.डी संगीत आनंद, राष्ट्रीय अध्यक्षा अंजू देवी, धर्मजीत सिंह ,कोषाध्यक्ष शिवचंद्र शर्मा, विशिष्ट अतिथि यूट्यूबर लक्ष्मी थारू, नायिका कुमारी संगीता, गायक नंदकुमार महतो, सत्येंद्र सिंह एवं सुमन देवी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करके किया। तत्पश्चात कोरोना के बढ़ते नए वैरिएंट को कम करने हेतु आचार्य पंडित अनिरुद्ध द्विवेदी एवं पंडित रामेश्वर तिवारी ने समवेत स्वर में विभिन्न वैदिक मंत्रों का पाठ किया। कोरोना के नए वेरिएंट जेएन वन के खात्मे की कामना की गई।

Narayani Gandaki Maha Aarti- 124 वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम का हुआ आयोजन
Aarti

संगीत आनंद ने कहा कि जे एन वन से डरने की जरूरत नहीं है बल्कि सावधानी बरतने की जरूरत है। संस्थान की राष्ट्रीय अध्यक्षा अंजू देवी ने बताया कि पर्यावरण संरक्षण संवर्धन के प्रति जन जागरूकता के निमित्त यह महा आरती की जाती है ।
थरुहट के समाजसेवी होमलाल प्रसाद ने कहा कि बेलवा घाट परिसर में आयोजित यह महा आरती सर्वधर्म समभाव की भावना से ओतप्रोत है। नवोदित कलाकारों के लिए यह मंच एक बड़ा प्लेटफार्म है, संस्था के प्रयासों से वर्ष 2014 में पहली बार वाल्मीकि महोत्सव का आयोजन किया गया था। जिला प्रशासन पश्चिम चंपारण द्वारा जल्द ही वाल्मीकि महोत्सव और नंदनगढ़ महोत्सव का आयोजन किया जाएगा, यह खबर सुनकर स्थानीय कलाकारों में हर्ष व्याप्त हो गया है। क्योंकि नवोदित प्रतिभाशाली कलाकारों को भी फिर से अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा। प्राकृतिक धरोहरों की रक्षा के प्रति हमें यह महा आरती जागरूक करती है।

Narayani Gandaki Maha Aarti- 124 वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम का हुआ आयोजन
Aarti

संस्थान के कोषाध्यक्ष एवं गायक शिवचंद्र शर्मा ने कहा कि ताम्रभद्र ,सोनभद्र और नारायणी नदी यहां तीन नदियों का संगम है। पूर्णिमा के दिन इस महा आरती में भाग लेना परम सौभाग्य की बात है।रुद्र नेचुरल हनी एवं शॉप उद्योग के निर्माता सत्येंद्र सिंह एवम् सुमन देवी ने कहा कि वाल्मीकि नगर की पहचान बन गई है यह महा आरती। शहद, मशरूम और साबुन का निर्माण करके हम स्थानीय लोगों को रोजगार देने की कोशिश कर रहे हैं । जिला प्रशासन द्वारा भी मुझे सहयोग प्राप्त हो रहा है। स्वरांजलि सेवा संस्थान द्वारा भी मेरे उत्पादों का का प्रमोशन किया जा रहा है।

इस कार्यक्रम में थारू संस्कृति के होमलाल प्रसाद, थरुहट की अदाकारा एवम् यूट्यूबर लक्ष्मी थारू ,नायिका कुमारी संगीता, गायिका मधु देवी, थरुहट के गायक नंदकुमार महतो , गायिका हिरवंती देवी , धर्म जीत सिंह , चंद्रभान कुमार , अर्पिता कुमारी रूद्रप्रताप सिंह ,बोट सफारी कर्मी नवनीत तिवारी, गुड्डू कुमार ,प्रदीप कुमार ,राम अवतार, ,सीता देवी, तूफानी ठाकुर, अर्पिता सिंह,काजल कुमारी एवम् सरस्वती देवी की भूमिका सराहनीय रही।
इस कार्यक्रम में विशेष योगदान देने के लिए विजय कुमार गुप्ता, फौजी विद्यासागर राणा, सेलेस्टियल इंटरनेशनल स्कूल वाल्मीकि नगर, वर्ल्ड मीडिया विजन नई दिल्ली के सीईओ राजेश गुप्ता, एस.के सुपरमार्ट रघुनाथपुर, अभिनेता संजय कुमार कुशवाहा, वशिष्ठ डेयरी उद्योग नेपाल, पवन भट्टराई, राव एमआरआई सेंटर गोरखपुर, एवं नायिका कुमारी संगीता की भूरि भूरि प्रशंसा की गई।

धर्मजीत सिंह ने कहा कि स्वरांजलि सेवा संस्थान द्वारा विगत 11 वर्षों से घूम-घूम कर दरिद्र नारायण भोज के माध्यम से लावारिस दिव्यांगजनों एवम् जरूरतमंदों को सुबह-शाम भोजन दिया जाता है। हर महीने की पूर्णिमा एवं विशेष अवसर पर पर्यावरण की रक्षा हेतु नारायणी गंडकी महा आरती की जाती है। इन कार्यक्रमों की जितनी भी तारीफ की जाए कम है। सभी आगत अतिथियों ने पर्यावरण संरक्षण संवर्धन का संकल्प लिया। विश्व शांति की कामना की गई। शांति मंत्र के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ।
संचालन संगीत आनंद ने किया जबकि धन्यवाद ज्ञापन होमलाल प्रसाद ने किया। नारायणी गंडकी माता की जय, गंगा मैया की जय, वाल्मीकि धाम की जय आदि नारे महा आरती स्थल पर गुंजायमान होते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!