July 13, 2024
Weather Update: Kaal Banega Biporjoy, काल बनेगा बिपोर्जॉय, NDRF टीमें अलर्ट- IMD ने की भविष्यवाणी

नई दिल्ली । मौसम विभाग ने रविवार के अपडेट में बताया कि अत्यंत गंभीर चक्रवाती तूफान उत्तर पश्चिम में बढ़ेगा, और फिर गुरुवार तक पाकिस्तान और आसपास के क्षेत्रों सौराष्ट्र और कच्छ तक पहुंचेगा। इसकी वजह से महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा समेत कई राज्यों में अलर्ट जारी किया गया है। तेज हवाओं और बारिश के कारण तापमान में कमी दर्ज की जा सकती है। आईएमडी ने यह भविष्यवाणी की है।

Weather Update: Kaal banega biporjoy, NDRF teams alert – IMD predicts

हिमाचल प्रदेश में सोमवार से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है। इस दौरान कुछ स्थानों पर अंधड़ चलने और ओलावृष्टि का श्येलो अलर्ट्य भी जारी किया गया है। वहीं, उच्च पर्वतीय एक-दो स्थानों पर हल्की बारिश-बर्फबारी हो सकती है। उधर तेलंगाना के 23 जिलों में अगले 24 घंटों के दौरान 30 से 40 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलने तथा बिजली चमकने के साथ आंधी-तूफान आने का अनुमान है।
चक्रवात के गुजरात के पोरबंदर तट से 200-300 किलोमीटर की दूरी से गुजरने का अनुमान है, लेकिन अगले पांच दिनों के दौरान गुजरात में आंधी और तेज हवाएं चलने की संभावना है। अपने नवीनतम पूर्वानुमान में, आईएमडी ने कहा अगले तीन दिन के दौरान उत्तर-उत्तरपश्चिम की ओर बढऩे से पहले इसके धीरे-धीरे उत्तर-उत्तरपूर्व की ओर बढऩे का अनुमान है।

अहमदाबाद (भारत मौसम विज्ञान विभाग) केंद्र की निदेशक मनोरमा मोहंती ने कहा, चक्रवाती तूफान वर्तमान में पोरबंदर से 600 किमी दूर है। जैसे-जैसे यह आगे बढ़ेगा, बंदरगाह संकेत चेतावनी इसके अनुसार बदल जाएगी। इस समय चक्रवात के पोरबंदर से 200-300 किमी और नलिया (कच्छ) से 200 किमी की दूरी से गुजरने का अनुमान है। जहां तक मौजूदा पूर्वानुमान का संबंध है, इसके गुजरात तट से टकराने की आशंका नहीं है।
उन्होंने पत्रकारों से कहा कि मछुआरों को अगले पांच दिन के दौरान अरब सागर में न जाने की चेतावनी दी गई है। मछली पकडऩे की सभी गतिविधियों को स्थगित कर दिया गया है।
मोहंती ने कहा, चक्रवात उत्तर दिशा की ओर बढ़ रहा है। अगले 24 घंटों में इसकी गति बदलकर उत्तर

पूर्व की ओर होने का अनुमान है। इसके बाद, चक्रवात की गति उत्तर-उत्तरपश्चिम की ओर होगी।
उन्होंने कहा कि गुजरात में अगले पांच दिन में गरज के साथ छींटे पडऩे का अनुमान है, खासकर सौराष्ट्र-कच्छ क्षेत्र में हवा की गति तेज रहेगी। मोहंती ने कहा,श्अगले दो दिनों के दौरान, सौराष्ट्र-कच्छ क्षेत्र में 30-40 किमी प्रति घंटे की हवा की गति देखी जा सकती है। इसके बाद, इस क्षेत्र में 30-50 किमी प्रति घंटे से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का अनुमान है।

वहीं अधिकारियों ने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के दलों को पोरबंदर, गिर सोमनाथ और वलसाड जिलों में भेज दिया है। भारतीय तटरक्षक बल ने गुजरात, दमन और दीव के मछुआरा समुदाय और नाविकों को जरूरी सावधानी बरतने और सुरक्षा उपाय करने की सलाह दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!